uncategorized

डीआईजी ने उत्कृष्ट कार्य के लिए सीधी एसपी की थपथपाई पीठ, जानिए क्यों

सीधी — बीते शुक्रवार को रीवा डिवीजन डीआईजी अनिल कुशवाह दोपहर 1 बजे के लगभग सीधी आए। उन्होंने पुलिस अधीक्षक सभागार में समीक्षा बैठक ली। 2 घंटे तक चली बैठक में उन्होंने अधिकारियों को पेंडिंग प्रकरणों का निराकरण तथा आगामी त्योहारों पर कानून व्यवस्था की स्थिति पर नजर रखने तथा शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए निर्देश दिए। श्री कुशवाह ने सीधी पुलिस की उत्कृष्ट कार्य को लेकर पुलिस कप्तान पंकज कुमावत की पीठ भी थपथपाई।डीआईजी ने बातचीत में बताया कि 1 हफ्ते के अंदर 400 से ज्यादा मामले शराब माफियाओं के खिलाफ दर्ज किया जा चुका है।

बता दे किं सीधी पुलिस के द्वारा सीएम हेल्पलाइन के लिए मध्य प्रदेश में प्रथम स्थान पाने के लिए पुलिस कप्तान पंकज कुमावत की सराहना की। मीडिया से बात करते हुए कहा कि महिलाओं में होने वाले अपराध के प्रति सीधी पुलिस सख्त है महिलाओं को गलत नजर से देखने वाले तथा किसी भी तरह का अपराधिक गतिविधि करने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

तत्काल हुआ मामला दर्ज
रीवा डिवीजन के डीआईजी अनिल कुशवाहा पुलिस अधीक्षक सभागार में समीक्षा बैठक कर रहे थे इसी दरमियान एक महिला दुष्कर्म की शिकायत लेकर पहुंची। जहां सीधी पुलिस ने तत्परता के साथ महिला को अपनी गाड़ी से सिटी कोतवाली में लाकर तत्काल मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश में जुट गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार सिटी कोतवाली अंतर्गत रहने वाली महिला ने बताया कि आरोपी बीते 21 जनवरी को शाम 7 बजे के लगभग राम प्रसाद साहू उर्फ रामू पिता हीरालाल साहू मेरे घर आया और मेरा मुंह दबाकर अंदर चारपाई में ले जाकर जबरदस्ती मेरे साथ दुष्कर्म किया। पीड़िता ने बताया कि उस वक्त हमारे घर में कोई भी मौजूद नहीं था, वहीं हल्ला गुहार मचाने पर जान से मारने की धमकी देने लगा। पीड़िता द्वारा बताया गया कि जब हल्ला गुहार की तब मुद्रिका जयसवाल दौड़कर आया पर तब तक आरोपी भाग निकला। पूरे मामले को लेकर डीआईजी की उपस्थिति में पुलिस कप्तान पंकज कुमावत के निर्देशानुसार कोतवाली पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश में जुट गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button