दो सगे भाइयों को महिला पर जादू टोना करने का हुआ शक,मिलकर फांसी के फंदे पर लटकाया,गिरफ्तार

जादू टोना के शक में युवक ने महिला का किया था हत्या 48 घण्टे के अंदर अंधी हत्या का खुला राज,भाई के साथ मिलकर फासी के फंदे पर दिया था लटका,बरगवां थाना क्षेत्र का मामला

सिंगरौली 10 जनवरी। बरगवां थाना क्षेत्र के डाला गांव निवासी 48 वर्षीय महिला का एक युवक ने जादू-टोने के शक पर गला दबाकर मौत की नींद सुलाते हुए अपने सगे भाई के साथ मिलकर सेधा के पेड़ में फांसी के फंदे से लटका दिया था। घटना की सूचना पर पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ 302 का मामला पंजीबद्ध कर विवेचना में जुट गयी थी। जहां बरगवां पुलिस ने 48 घण्टे के अंदर हत्या की गुत्थी को सुलझाते हुए आरोपियों को न्यायालय में पेश किया जहां से उन्हें जेल भेज दिया।

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक 6 जनवरी को बरगवां टीआई आरपी सिंह को सूचना मिली कि एक महिला पेड़ पर फांसी से लटकी हुई है। जिनके द्वारा तत्काल मौके पर पहुंचकर मृतिका के शव में आवश्यक कार्रवाई के लिए एसपी वीरेन्द्र कुमार सिंह के निर्देश व एएसपी अनिल सोनकर एवं एसडीओपी राजीव पाठक के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी बरगवां आरपी सिंह के नेतृत्व में पुलिस की टीम गठित कर मृतिका का शव कब्जे में लेकर पंचनामा कार्रवाई फोटोग्राफी, वीडियो ग्राफी कराई गई तथा मौके पर एफएसएल अधिकारी से निरीक्षण कराया जाकर पूछताछ की गई जो शव पंचनामा एवं पीएम रिपोर्ट में मृतिका बुटल देवी उम्र 48 वर्ष का अज्ञात आरोपियों द्वारा गला दबाकर हत्या करना पाये जाने पर उनके विरूद्ध धारा 302 भादवि कायम कर अज्ञात आरोपियो की पतासाजी में जुट गयी।

विवेचना के दौरान संदेही पुष्पेन्द्र सिंह उर्फ पप्पू सिंह गोंड़ पिता बाबूलाल गोंड़ उम्र 28 वर्ष निवासी डाला थाना बरगवां से मृतिका के हत्या के संबंध में सख्ती से पूछतांछ की गई। पूछताछ में उसने बताया कि मृतिका बुटल देवी हमारे बच्चे एवं मवेशियों पर जादू टोना करती थी। जिससे यह 2-3 वर्षो से परेशान था। इसी शक के आधार पर मृतिका बुटल देवी पति घुरा सिंह गोंड़ उम्र 48 वर्ष निवासी डाला थाना बरगवां को अरहर के खेत में अकेली पाकर पीछे से जाकर गला दबाकर हत्या करना कबूल किया एवं हत्या के बाद अपने भाई मृगेन्द्र सिंह गोंड़ उर्फ रामदास सिंह गोंड़ पिता बाबूलाल गोंड़ उम्र 19 वर्ष निवासी डाला के सहयोग से सेधा के पेड़ में फांसी पर लटकाना बताया। पुलिस ने आरोपी पुष्पेन्द्र सिंह एवं इसके भाई मृगेन्द्र सिंह गोंड़ को गिरफ्तार कर जेआर पर भेजा गया है। मुख्य आरोपी पुष्पेन्द्र सिंह द्वारा फिल्मी अंदाज में हत्या कर गुमराह करने की नियत से मृतिका को सेधा के पेड़ पर उसी की साड़ी के दूसरे छोर से फंदा बनाकर लटका दिया गया था। जिसको चुनौती के रूप में लेते हुये पुलिस अधीक्षक सिंगरौली के सतत् मार्गदर्शन मे बरगवां पुलिस ने महज 48 घंटे मे हत्या का पर्दाफाश करते हुये आरोपियो को गिरफ्तार कर लिया। उक्त कार्रवाई मे निरीक्षक आरपी सिंह के नेतृत्व में उपनिरी खेलन सिंह करिहार, सउनि राजेश सिंह परिहार, प्रवीण मरावी, प्रआर राजकुमार विश्वकर्मा, रावेन्द्र सिंह, रमेश रावत एवं आरक्षक संदीप पाण्डेय का सराहनीय योगदान रहा है।


महिला की संदिग्ध हालत में मौत,हत्या की आशंका
जिले के सरई थाना निगरी चौकी अंतर्गत छमरछ में कल दोपहर में अंतिमा पांडेय उम्र 26 वर्ष निवासी छमरछ की अज्ञात कारणों से मृत्यु हो गयी। जिसकी सूचना मिलने पर निगरी पुलिस मौके से पहुंच शव को अपने कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया है। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक छमरछ निवासी अंतिमा पाण्डेय पति हरिहर पाण्डेय उम्र 26 वर्ष को उसके पति ने आनन-फानन में अस्पताल ले गया जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। वहीं मृतिका के मायके पक्ष वालो ने पति पर हत्या का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। मामला काफी तूल पकड़ लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।


कृष्ण बिहार में महिला की हत्या,मामला दर्ज
सिंगरौली। नवानगर थाना क्षेत्र के समीपस्थ कृष्ण बिहार में महिला की हत्या किये जाने का मामला सामने आया है। नवानगर पुलिस ने आरोपी के विरूद्ध मामला दर्ज कर तलाश में जुट गयी है। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कृष्ण बिहार बस्ती निवासी आरोपी सूरज केवट ने कई वर्षों से गोलरी बैगा उम्र 22 वर्ष को कई वर्षों से रखैल के रूप में रखा हुआ था। बीती रात करीब 8.30 बजे दोनों के बीच किसी बात को लेकर कहा-सुनी हुई और आधा घण्टा तक तूतू-मैमै होता रहा। इतने में आरोपी ने रखैल पत्नी गोलरी को जोर का धक्का दिया जहां महिला दीवाल से टकराकर बेहोश हो गयी। उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन कुछ देर बाद उसकी मौत हो गयी। पुलिस हत्या का मामला दर्ज कर फरार आरोपी की तलाश में जुट गयी है।

Back to top button