uncategorized

नागेन्द्र प्रताप सिंह क्रसर एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष मनोनीत, SINGRAULI NEWS

Singrauli — क्रसर एसोसिएशन की बैठक में कई मुद्दों पर हुई विस्तार से चर्चा

सिंगरौली 22 फरवरी। क्रसर व्यवसाय को सुचारू रूप से संचालित करने एवं अन्य कई बिंदुओं को लेकर सोमवार को जिला स्तरीय क्रसर संचालकों की एक आवश्यक बैठक बैढऩ के एक होटल में संपन्न हुई। आयोजित बैठक मेंं जिला क्रसर एसोसिएशन के पदाधिकारियों की घोषणा हुई। जिसमें नागेन्द्र प्रताप सिंह को क्रसर एसोसिएशन का जिलाध्यक्ष मनोनीत किया गया। 

जानकारी के मुताबिक सोमवार को जिला क्रसर एसोसिएशन की एक आवश्यक बैठक आहुत की गयी। जिसमें क्रसर व्यवसाय को सुचारू रूप से चलाने के लिए विस्तार से कई बिंदुओं पर चर्चा की गयी। चर्चा में गिट्टी के रेट एवं रायल्टी के निर्धारण,नो इन्ट्री से व्यवसाय पर पड़ रहे विपरीत प्रभाव, ब्लैक लिस्टेड उपभोक्ताओं को गिट्टी देने में रोक लगाये जाने के साथ ही गरीबों के घर जिनका माइंस के नजदीक है उन्हें अन्यत्र शिफ्ट किये जाने जैसे अहम मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की गयी। तदुपरांत क्रसर एसोसिएशन को मजबूती प्रदान करने के लिए पदाधिकारी व कार्यकारिणी की घोषणा की गयी।

तत्संबंध में बताया गया है कि क्रसर के संचालकों ने सर्व सम्मति से नागेन्द्र प्रताप सिंह बबलू को जिलाध्यक्ष मनोनीत किया तो वहीं शंकर प्रसाद वैश्य संरक्षक, राकेश धर दुबे कार्यकारी अध्यक्ष, आनंद अग्रवाल, ज्ञानेन्द्र सिंह ज्ञानू एवं सौरभ गुप्ता उपाध्यक्ष,अमित द्विवेदी सचिव, कामतानाथ केशरवानी कोषाध्यक्ष,  संजीव सिंह संयुक्त सचिव मनोनीत किये गये। साथ ही सुरेन्द्र जैन, रूद्र गुप्ता, विनय सिंह, मनोज सिंह को सदस्य में जगह दी गयी है। इसके अलावा राजाराम गुप्ता, श्याम जायसवाल व सुभाष बंसल को जिला कार्यकारिणी सदस्य बनाया गया है। कार्यकारिणी गठन उपरांत निर्णय लिया गया कि जिला स्तर पर क्रसर एसोसिएशन का रजिस्ट्रेशन कराया जाकर समस्त विभागों में कार्यकारिणी गठन की सूचना आवश्यक रूप से दें। बैठक में अन्य सदस्य भी मौजूद रहे।  

संचालकों के साथ अन्याय नहीं होने देंगे: बबलू

क्रसर एसोसिएशन गठन के उपरांत नवनियुक्त जिलाध्यक्ष नागेन्द्र प्रताप सिंह बबलू ने पदाधिकारी व सदस्यों को आश्वस्त करते हुए कहा है कि मुझ पर जो भरोसा कर यह जिम्मेदारी सौंपी गयी है मै उसका बखूबी के साथ निर्वहन करूंगा और मेरा प्रयास रहेगा कि क्रसर संचालकों के साथ किसी प्रकार की ज्यादती न हो। यदि कोई बेवजह परेशान करेगा तो सब मिलकर मुकाबला करेंगे। संगठन में ही शक्ति है और इसी शक्ति के आधार पर हम सब अपने व्यवसाय को एक सकारात्मक दृष्टि से सुचारू रूप से संचालन के लिए आगे बढ़ेंगे। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि जिले के क्रसरों से साल भर में करीब 25 करोड़ से अधिक रायल्टी राजस्व सिंगरौली से प्राप्त होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button