बेटे की हत्या पर परिवार 5 दिन से बैठा आमरण अनशन पर,विधायक सिंगरौली,कलेक्टर,एसपी पहुंचे,वार्ता बेनतीजा

चौकी प्रभारी ने मंत्री जी की बात मानते हुए हम लोगों को धमका रहे थे की रास्ता छोडि़ए नहीं तो आप लोगों के खिलाफ सड़क जाम करने का अपराधिक मामला दर्ज होगा। हमारी मांग है कि तत्काल रूप से ऐसे चौकी प्रभारी को वहां से हटाया जाय।

सिंगरौली 5 जनवरी। तिनगुड़ी हत्याकांड को लेकर आमरण अनशन पर बैठे परिजनों से मिलने पहुंचे जिले के अधिकारी सहित जनप्रतिनिधियों ने मान मुनौवल सहित समझाइश दी लेकिन मृतक के परिजन के साथ सिंगरौली विधायक,पूर्व ननि अध्यक्ष व जिला प्रशासन के बीच हुई वार्ता एक बार फिर विफल रही।

आमरण अनशन कर रहे मृतक के परिजनों को समझाते हुए कहा कि आप लोग आमरण अनशन खत्म कर घर जाएं। हमने पुलिस अधीक्षक के साथ में 4 सदस्यीय एसआईटी टीम मामले की जांच पड़ताल के लिए गठित कर दी है। निष्पक्ष जांच की जायेगी और जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ निश्चित रूप से कड़ी कार्रवाई होगी। उक्त बातें सिंगरौली कलेक्टर राजीव रंजन मीना ने मृतक के परिजनों के समक्ष कही। गौरतलब हो कि तिनगुड़ी हत्याकांड में मृतक अम्ब्रेेश प्रजापति के माता-पिता व पत्नी बिलौंजी स्थित कलेक्ट्रेट परिसर के बगल में आज 5 दिनों से आमरण अनशन पर बैठे हुए हैं। जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन के बार-बार समझाईश देने के बावजूद भी परिजन अपनी बातों पर अडिग रहते हुए जिला प्रशासन व जनप्रतिनिधियों से सीआईडी, सीबीआई उच्च स्तरीय न्यायिक जांच कराए जाने की मांग कर रहे हैं। इस दौरान धरना स्थल पर आज बुधवार की दोपहर सिंगरौली विधायक रामलल्लू बैस,कलेक्टर राजीव रंजन मीना, एसपी वीरेंद्र कुमार सिंह सहित टीआई और पुलिस बल के साथ धरना प्रदर्शन स्थल पर पहुंच कलेक्टर ने मृतक के परिजनों को समझाया कि मेरे द्वारा मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक के साथ विस्तृत रूप से बातचीत की गई है। जिस पर एसपी के द्वारा चार सदस्यीय एसआईटी टीम गठित कर मामले की जांच कराई जा रही है लेकिन जांच प्रक्रिया पूरी होने में समय लगेगा। आप अपना आमरण अनशन खत्म करें। जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। वहीं जिला प्रशासन और मृतक के परिजनों के बीच यह वार्ता विफल हो गई। परिजन अपने बातों पर अडिग रहते हुए कहा कि साहब जांच में जितने दिन भी लगें हम उतने दिन यहां आमरण अनशन पर बैठे रहेंगे। जब जांच रिपोर्ट आ जाएगी और उसे हम परिजन देख संतुष्ट होंगे तो आमरण अनशन खत्म कर देंगे। अभी फिलहाल हमारा आमरण अनशन चलता रहेगा।


मेरे पुत्र की हत्या हुई और तिनगुड़ी पुलिस मुझे ही धमका रही थी
आमरण अनशन कर रहे मृतक के परिवारजनों से मिलने पहुंचे सिंगरौली विधाायक रामलल्लू बैस व कलेक्टर,एसपी से परिजनों ने कहा कि साहब हमारा लड़का मर गया और आपके चौकी प्रभारी बिना पंचनामा के शव को उठवा रहे थे। इस दौरान जब हम लोगों ने इसका विरोध किया तो चौकी प्रभारी बोले की हमारी पूर्वमंत्री वंशमणि वर्मा से बात हो गयी है उन्होंने कहा है शव यहां से उठाकर ले जाइए। यदि परिजन नहीं ले जाने देते तो उनके खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज करिये। चौकी प्रभारी ने मंत्री जी की बात मानते हुए हम लोगों को धमका रहे थे की रास्ता छोडि़ए नहीं तो आप लोगों के खिलाफ सड़क जाम करने का अपराधिक मामला दर्ज होगा। हमारी मांग है कि तत्काल रूप से ऐसे चौकी प्रभारी को वहां से हटाया जाय।

Back to top button