राजपूत हूं नौकरी भले ही जाए, मूछ नहीं झुकेंगी: आरक्षक ने कहा- मूछ स्वाभिमान है,अब हो गया सस्पेंड

भोपाल में एक सिपाही को मूंछ काटने से मना करने पर नौकरी से निकाल दिया गया। सहायक पुलिस महानिरीक्षक ने भी बर्खास्तगी का आदेश जारी किया है।

भोपाल- मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में मूछ के चलते आरक्षक सुर्खियों में है. इसी मूछ की वजह से आरक्षक राकेश राणा को निलंबित कर दिया गया है. अब आरक्षक का बयान सामने आया है. आरक्षक ने कहा कि मूछ और बाल कटवाने के लिए पहले सलाह दी गई थी. सलाह ना मानने पर कार्रवाई की गई है. उसने कहा कि राजपूत हूँ, नौकरी भले ही जाए, मूछ नहीं झुकेंगी. मूंछे स्वाभिमान हैं. पुलिस में और भी आईपीएस अधिकारी मूंछे रखे हैं, लेकिन मुझ पर ही क्यों कार्रवाई की गई. आरक्षक राकेश राणा विशेष पुलिस महानिदेशक कॉपरेटिव फ्रॉड एवं लोक सेवा गारंटी के वाहन चालक के रूप में कार्यरत था। फिलहाल सिपाही को मूंछ काटने से मना करने पर सस्पेंड कर दिया गया है।सहायक पुलिस महानिरीक्षक द्वारा बकायदा निलंबन आदेश भी जारी कर दिया गया है.

बता दें कि आरक्षक चालक राकेश राणा एमटी पूल ने अजब डिजाइन की बड़ी मूछ रखी है. जिस पर विभाग ने आपत्ति जताते हुए मूछ सही ढंग से रखने की समझाइश दी थी. लेकिन उसके बावजूद आरक्षक नहीं माना, तो उसे निलंबित कर दिया गया. निलंबन आदेश में लिखा गया है इसका टर्न ऑऊट चेक करने पर पाया गया कि उसके बाल बढ़े हुए हैं और मूछ अजब डिजाइन से है. जिसमें टर्नआउट अत्याधिक भद्दा दिख रहा है. ऐसे में कांस्टेबल राकेश राणा को अपने बाल और मूंछें ठीक से काटने की हिदायत दी गई। इसके बावजूद सिपाही अपनी मूंछें और बाल नहीं कटवाया। समझाइश देने पर भी निर्देशों का पालन नहीं किया गया. इसलिए अनुशासनहीनता के चलते निलंबन की कार्रवाई की गई है.

राकेश राणा को बाल और मूंछ काटने का आदेश दिया गया था

सहायक पुलिस महानिरीक्षक की ओर से जारी आदेश में लिखा है, ‘कांस्टेबल चालक 1555 राकेश राणा, मतिपुल, भोपाल, जो विशेष पुलिस महानिदेशक (सहकारिता धोखाधड़ी एवं लोक सेवा) गारंटी के वाहन में चालक का कार्य करता है. उक्त सिपाही चालक की बारी की जाँच करने पर पता चला कि उसके बाल बड़े हो गए थे और उसकी गर्दन पर अजीब सी मूंछें थीं। यही कारण है कि मतदान का प्रतिशत इतना खराब दिखता है।जिससे टर्नआउट अत्यधिक भद्दा दिखाई दे रहा है. आरक्षक चालक 1555 राकेश राणा को अपने टर्न आउट को ठीक करने हेतु बाल एवं मूंछ उचित ढंग से कटवाने हेतु निर्देश दिए गए

बाल बड़े हो गए हैं और मूंछों का डिजाइन भी अजीब है

उक्त आरक्षक ने चालक के आदेश का पालन नहीं किया और अपने बाल और मूंछ को बरकरार रखने पर जोर दिया। जो वर्दी सेवा में अनुशासनहीन की श्रेणी में आता है। और इस कानून का अन्य कर्मचारियों पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। उक्त आरक्षक चालक 1555 राकेश राणा को तत्काल निलम्बित कर नियमानुसार निर्वाह भत्ता दिया जायेगा।

Back to top button