रीवा,सिंगरौली,सतना,शहडोल जिले में दिन भर हुई बूंदाबांदी,सीधी में 3घंटे झमाझम हुई वारिष, बिजली गिरने की दी चेतावनी

विन्ध्य के रीवा,सिंगरौली,सतना, शहडोल जिले में दिन भर हुई बूंदाबांदी हुई जबकि सीधी में 3 घंटे लगातार झमाझम हुई वारिष हुई जिससे लोगों की जमकर फजीहत हुई।

सिंगरौली 9 जनवरी। विन्ध्य में रविवार की सुबह से ही बूंदाबांदी व शीतलहर हवाओं के साथ ठण्ड का टार्चर शुरू हो गया है। इस बूंदाबांदी व शीतलहर से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो चुका है। मौसम विभाग ने मंगलवार तक इसी तरह मौसम बने रहने का अनुमान जताया है। विन्ध्य के रीवा,सिंगरौली,सतना, शहडोल जिले में दिन भर हुई बूंदाबांदी हुई जबकि सीधी में 3 घंटे लगातार झमाझम हुई वारिष हुई जिससे लोगों की जमकर फजीहत हुई।

दरअसल रविवार की सुबह से लेकर पूरी रात तक रिमझिम बूंदाबांदी का दौर समूचे विन्ध्य में चलता रहा। पूरे दिन सूर्य देवता के दर्शन नहीं हुए।विन्ध्य के रीवा,सिंगरौली,सतना, शहडोल जिले में दिन भर हुई बूंदाबांदी हुई जबकि सीधी में 3 घंटे लगातार झमाझम हुई वारिष हुई वहीं शीतलहर ने हाल बेहाल कर दिया है। मौसम के अचानक बिगडऩे से आज शहर में चहल पहल भी नहीं दिखी। वहीं जन जीवन भी प्रभावित हुआ है। ग्रामीण अंचलों सुबह से ही लोग आग का सहारा लिये हुए थे। वहीं शहरी क्षेत्र में घरों से बाहर निकलने से कतरा रहे थे। आलम यह था कि शीतलहर के चलते लोगबाग अलाव तलाशते नजर आ रहे थे। इधर मौसम विभाग ने पूर्व अनुमान जताया है कि अगले 24 घण्टे से अधिक समय तक मौसम इसी तरह बना रहेगा। उधर देवसर, चितरंगी, सरई, माड़ा,चुरहट,सिमरिया,गगेब,धमतरी,रामपुर नैकिन,चोरहटा सहित अन्य इलाकों में फिर से ठण्ड ने जोर पकड़ लिया है।


दलहनी,तिलहनी फसलों को नुकसान होने का अनुमान
मौसम के करवट बदलने के बाद अब सबसे ज्यादा नुकसान दलहनी, तिलहनी फसलों को होने का अन्नदाता अनुमान लगाना शुरू कर दिये हैं। यदि इसी तरह से मौसम दो-तीन दिन बना रहा तो दलहनी फसलों में कीटो के लगने का डर सताने लगा है। मौसम की बेरूखी को देख गेंहू, जौ फसलों के लिए जहां बारिश अच्छा मान रहे हैं, लेकिन अन्य फसलों के लिए नुकसानदेह मानते हुए उनमें चिंता सताने लगी है।

Back to top button