uncategorized

विधवा के साथ दरिंदगी की घटना भाजपा सरकार के माथे पर कलंक: दीपू

सीधी — सीधी जिले में अमिलिया थाना क्षेत्र के अंतर्गत विगत दिनों एक विधवा महिला के साथ 3 दरिंदों द्वारा की गई दरिंदगी की घटना की कांग्रेस पार्टी ने कड़ी निंदा करते हुए इस घटना को प्रदेश की भाजपा सरकार के माथे पर कलंक बताया है। 

जिला कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता प्रदीप सिंह दीपू ने जारी प्रतिक्रिया में कहा है कि जबसे मध्यप्रदेश में लोकतंत्र का चीर हरण कर भाजपा ने सरकार बनाई है तबसे पूरे प्रदेश में हत्या बलात्कार लूट जैसे संगीन अपराधों की बाढ़ सी आ गई है।  जहां शिवराज सिंह के पिछले कार्यकाल में मध्य प्रदेश महिला अपराधों में देश में प्रथम स्थान पर था वहीं कमलनाथ सरकार के सुशासन एवं ईमानदारी के चलते 15 महीने में ही महिला अपराधों में पांच प्रतिशत की कमी दर्ज की गई थी। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि सीधी की घटना कोई नई घटना नहीं है। जबसे शिवराज सिंह के नेतृत्व में जनादेश का गला घोटकर सरकार बनी है तब से हत्या बलात्कार एवं मासूम बच्चियों की चीख पुकार शिवराज की 2018 के पहले की यादों को ताजा कर रही है।

CM शिवराज का सिंगरौली दौरा,872 करोड़ के कामो का किया लोकार्पण व भूमिपूजन 

प्रदीप सिंह दीपू ने कहा कि सीधी की घटना मानवता को दहला देने वाली है। इस घटना से सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि अपराधी कितने बेखौफ हो चुके हैं। उन्होंने कहा की आखिर कब तक मासूम बच्चियां एवं महिलाएं इस तरह की दरिंदगी का शिकार होती रहेंगी ? आखिर सरकार क्यों अपराधियों पर नकेल कसने में विफल हो रही है ? क्या मानवता को शर्मसार कर देने वाली ऐसी घटनाओं की जिम्मेदारी सरकार लेगी ? क्या गृहमंत्री महिलाओं एवं बच्चियों की सुरक्षा नहीं कर पाने के लिए माफी मांगते हुए नैतिकता के आधार पर त्यागपत्र देंगे ? क्या भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति ना हो इसके लिए सरकार अपराधियों एवं बलात्कारियों को संरक्षण देने के बजाय उनके खिलाफ कठोर  कार्यवाही करेगी ? आखिर में सरकार द्वारा इतनी बड़ी हृदय विदारक घटना के बाद भी पुलिस एवं प्रशासन के विरुद्ध कोई कार्यवाही क्यों नहीं की गई। कब तक मासूम बच्चियों के साथ हो रही हैवानियत पर मुख्यमंत्री एवं गृह मंत्री धृतराष्ट्र बने रहेंगे ?    

नाबालिक बेटी ने प्रेमी के साथ मिलकर पिता को उतारा मौत के घाट,गिरफ्तार

IMG 20210115 WA0045 1

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button