uncategorized

सिंगरौली में कांग्रेस सांसद शशि थरूर समेत कई पर एफआईआर दर्ज

एक किसान ने माड़ा थाना में दर्ज कराया एफआईआर, दिल्ली हिंसा का मामला
सिंगरौली 30 जनवरी। 72 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर दिल्ली में हुई हिंसा का मामला गरमाता जा रहा है। दिल्ली में हुई हिंसा में सोशल मीडिया व ट्विटर के माध्यम से अफवाह फैलाने वाले कांग्रेस पार्टी के सांसद व पूर्व केन्द्रीय मंत्री शशि थरूर, इंडिया टुडे के एंकर राजदीप देसाई समेत अन्य कई लोगों पर माड़ा थाना क्षेत्र के ग्राम भभौरा निवासी एक किसान ने माड़ा थाने में एफआईआर दर्ज कराया है। जहां पुलिस ने फरियाद किसान की रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर लिया है।


जानकारी के अनुसार माड़ा थाना क्षेत्र के ग्राम भभौरा निवासी जगन्नाथ प्रसाद वैश्य पिता सुमंतराम वैश्य ने माड़ा थाना में पहुंच इस बात की रिपोर्ट लिखाई है कि गणतंत्र दिवस के पावन पर्व पर दिल्ली के विभिन्न बार्डरों पर धरना पर बैठे किसान नेताओं ने टै्रक्टर रैली परेड करने का अनुमति लिया था। जहां उन्हें दिल्ली की पुलिस ने अनुमति देते हुए रूट भी तय किया था। किन्तु आंदोलन कारियों ने शर्तो व नियम कायदे कानून का उल्लंघन करते हुए दिल्ली में पहुंच हुड़दंगी करते हुए हिंसा करने लगे। जिसमें कई पुलिस कर्मियों पर तलवार, लाठी, डण्डे, पत्थर, लोहे के राड से हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिये। इतना ही नहीं लाल किला पर धावा बोल दिये। साथ ही एक टै्रक्टर अनियंत्रित होकर पलट गया था। जहां टै्रक्टर के पलटने के बाद चालक की मौत हो गयी। लेकिन कांग्रेस सांसद शशि थरूर, वरिष्ठ पत्रकार राजदीप देसाई, पत्रकार श्रीमती मृणाल पांडे, जफर आगा, परेशनाथ, अनंतनाथ, विनोद के जोस समेत अन्य कईयों ने ट्रिवटर व सोशल मीडिया के माध्यम से अफवाह फैला दिया। जहां हिंसा और बढ़ गयी।

किसान ने आरोप लगाया है कि दिल्ली में गणतंत्र दिवस के अवसर पर हुई हिंसा में उक्त लोगों के द्वारा साजिशन फैलायी गयी अफवाहों से हिंसा भड़की है। फरियादी जगन्नाथ की रिपोर्ट पर पुलिस ने नामजद उक्त आरोपियों के विरूद्ध भादवि की धारा 153 ए, 153 ए (1) (बी) एवं 505 (2) के तहत अपराध पंजीबद्ध किया है। जिसकी पुष्टि माड़ा पुलिस ने की है।

img 20191129 wa0169589987474516061817

कांग्रेस पार्टी का असली चेहरा उजागर: वीरेन्द्र
सिंगरौली भाजपा जिलाध्यक्ष वीरेन्द्र गोयल ने किसान आंदोलन के नाम पर राजनीति कर रही कांग्रेस पार्टी समेत अन्य विपक्षी दलों के नेताओं पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि दिल्ली हिंसा में राजनैतिक दलों की एक सोची समझी साजिश थी। जिसका प्रत्यक्ष प्रमाण कांग्रेस पार्टी के केरल प्रांत के सांसद व पूर्व केन्द्रीय मंत्री शशि थरूर का है। जिन्होंने एक सोची समझी साजिश के तहत सोशल मीडिया के माध्यम से दिल्ली हिंसा को भड़काने का काम किया है। जिसमें सैकड़ों पुलिस जवान घायल हुए हैं और देश को इन नेताओं ने शर्मशार किया है। जनता इनके करतूतों को समझ चुकी है कभी माफ नहीं करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button