uncategorized

सीधी कलेक्टर रवींद्र कुमार चौधरी ने बर्ड फ्लू को लेकर अब ये कहा

सीधी — कलेक्टर रवींद्र कुमार चौधरी के निर्देशानुसार पशु चिकित्सा विभाग के अधिकारियों एवं 0pपंखों आदि के जरिये पूरे झुंड को तेजी से प्रभावित कर सकती है। बर्ड फ्लू को फैलने से रोकने के लिए पॉल्ट्री फार्म संचालकों को सलाह दी गयी है कि पक्षियों को बाड़े में बंद रखिये केवल पॉल्ट्री फॉर्म की देखभाल करने वालों को ही पक्षियों के पास जाना चाहिए। अनावश्यक लोगों को बाड़े में प्रवेश ना करने दें। मुर्गे-मुर्गी को दूसरे पक्षियोंध्पशुओं से न मिलने दें। इसके साथ ही बाड़ें में और उसके आसपास साफ-सफाई बहुत है। इस प्रकार जीवाणु और विषाणुओं से बचा जा सकता है। पक्षियों के बाड़े को साफ सुथरा रखें और पक्षियों का भोजन और पानी रोजाना बदलें। पॉल्ट्री फॉर्मध्बाड़े को नियमित रूप से संक्रमण मुक्त करते रहें। 

पॉल्ट्री फार्म संचालकों को सलाह दी गयी है कि अपने आपको और बाजार या अन्य फार्मो में अन्य पक्षियों के संपर्क में आने वाली हर चीज की साफ-सफाई रखें। नए पक्षी को कम से कम 30 दिन तक स्वस्थ्य पक्षियों से दूर रखें। बीमारी को फैलने से रोकने या बचाव के लिए पॉल्ट्री के संपर्क में आने से पहले और बाद में अपने हाथ कपड़ो और जूतों को धोये तथा संक्रमण मुक्त करें। यदि आप अन्य फार्मो उपकरणों औजारों या पॉल्ट्री को उधार लेते है तो अपने स्वस्थ पक्षियों के संपर्क में आने से पहले भली भांति उनकी सफाई करें और संक्रमण मुक्त करें। पक्षियों पर नजर रखे यदि अधिक पक्षी मर रहे हैं आंखो, गर्दन और सिर के आस पास सूजन है, रिसाव हो रहा है, पंखो, कलगी और टांगों का रंग बदल रहा है और पक्षी अंडे कम देने लगे है तो यह सब खतरे के संकेत है। पक्षियों मे अचानक कमजोरी, पंख गिरने और हरकत कम होने पर नजर रखें।

उपसंचालक पशु चिकित्सा सेवाएं डॉ. एम. पी. गौतम द्वारा अपील की गई है कि अफवाहों से बचें तथा पूरी सतर्कता एवं सावधानी बरतें। मृत पक्षियों की जानकारी प्राप्त होने पर उनसे दूरी बना कर रखें तथा इसकी जानकारी तत्काल जिला स्तरीय कन्ट्रोल रूम को देंवें। जिला नोडल अधिकारी डॉ. गंगा प्रसाद शुक्ला प्रभारी सिविल सर्जन का मोबाइल नं. 9589193201 एवं 7999494289 है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button