uncategorized

ASI का नशेड़ी बेटा निकला मोबाइल चोर,गिरफ्तार

उज्जैन। जिले में चिमनगंज मंडी थाना पुलिस ने मोबाइल चोर गिरोह को पकड़ने में सफलता हासिल की है। इस गिरोह के सभी सदस्य नव युवक  है जिसका लीडर उज्जैन में पदस्थ असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर का बेटा है। पुलिस उसे पहले भी कई बार पकड़ चुकी है परंतु हर बार उसके पिताजी कार्रवाई से पहले ही उसे छुडा कर ले जाते थे। पुलिस अधिकारी का बेटा होने के कारण उसे सहानुभूति का लाभ लगातार मिलता था। यही वजह रही की नव युवक का हौसला बढ़ा उसने अपनी अपनी गैंग तैयार कर ली।

BF ने GF को शादी का झांसा देकर दो साल तक किया रेप,शादी से मुकरा तो थाने पहुंची युवती,CRIME NEWS

बता दें कि मोबाइल चोरी की घटना सीसीटीवी कैमरे में रिकॉर्ड होने के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। मामला चिमनगंज मंडी थाना क्षेत्र का है। कमल कॉलोनी निवासी नरेंद्र कुशवाह का चार-पांच दिन पहले मोबाइल चोरी हो गया था। नरेंद्र घर के पास ही दुकान पर सामान खरीद कर घर लौटे, तो देखा कि जेब में मोबाइल नहीं है। नरेंद्र तुरंत दुकान पर पहुंचे। वहां जब खोजने के बाद भी मोबाइल नहीं मिला, तो दुकान पर लगे सीसीटीवी के फुटेज देखे। इसमें दो युवक संदिग्ध अवस्था में उनके पास ही खड़े दिखे।इसके बाद दोनों बिना सामान लिए ही चले गए।चिमनगंज मंडी पुलिस ने बताया, नितेश पहले भी कई बार पकड़ा जा चुका है। हर बार उसके पिता थाने आकर उसे छुड़ा ले जाते थे। पुलिस वाले का बेटा होने के कारण चिमनगंज मंडी पुलिस भी उसे समझाइश देकर छोड़ देती।

17 साल की लड़की को नहाते देखना पड़ा महंगा,कोर्ट ने 2 साल की सुनाई सजा

एसआई रवींद्र कटारे ने बताया, रविवार को सूचना मिली थी कि कुछ लड़के मंहगे मोबाइल सस्ते गांवों में बेचने के लिए ग्राहक तलाश रहे हैं। सभी आरोपी नशे के आदी हैं। पुलिस ने घेराबंदी की, तो एक लड़का पकड़ा गया। जिससे पूछताछ में पता चला कि उसका नाम नितेश पिता बहादुर सिंह निवासी चिमनगंज मंडी है। बहादुर सिंह देवासगेट थाने में एएसआई हैं। चोरी की घटनाओं में जब भी युवक पकड़ा जाता था तो उसके एएसआई पिता उसे छुड़ाने के लिए हर वह रास्ता अख्तियार करते थे जिससे बेटे को चुराया जा सके यही वजह रही कि बेटे कहां चला इस कदर बुलंद हुआ कि वह नशे का आदी होने के साथ साथ चोरी का अपना गैंग भी बना लिया।

गर्लफ्रेंड को शादी का झांसा देकर कराया तलाक,प्रेगनेंट हुई तो मुकर गया बॉयफ्रेंड,रिपोर्ट दर्ज

पुलिस जब शक्ति के साथ नितेश से पूछताछ की तो पता चला कि उसके साथ दो लड़के और भी हैं। उसकी निशानदेही से अंकपात निवासी सचिन पिता शंकरलाल को पुलिस ने पकड़ा। दोनों ने अपने नाबालिग साथी का पता बताया। पुलिस ने उसे भी पकड़ लिया। तीनों के पास से 11 मोबाइल जब्त हुए हैं। पूछताछ में पता चला है कि आरोपियों ने नानाखेड़ा, जीवाजीगंज, नागझिरी और नीलगंगा थाना क्षेत्र में भी चोरी करना कबूला है। तीनों नशे के आदी हैं और नशा करने के लिए चोरी करने लग गए। पकड़े गए आरोपी पहले भी कई मामलों में पकड़े जा चुके हैं।

रोती हुई बच्ची बोली- मुझे पति के पास जाना है – मां ने दिया ऐसा रिएक्शन – देखें Video

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button