Indore News : व्यापम घोटाले का सरगना डॉ. सागर इंदौर एयरपोर्ट से गिरफ्तार, बैग में मिले जिंदा कारतूस

मध्‍य प्रदेश (Madhya pradesh) के बहुचर्चित व्‍यापम घोटाले (Vyapam scam) का मास्‍टर माइंड डॉ. जगदीश सिंह सागर इंदौर एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया गया है। आरोपी इंदौर से ग्‍वालियर फ्लाइट में जाने से पहले चेकिंग के दौरान पकड़ाया है जिसके बाद चेकिंग के दौरान जगदीश सागर के बैग में जिंदा कारतूस मिला है। एयरपोर्ट सुरक्षाकर्मियों ने आरोपी को एरोड्रम थाना पुलिस को सौंप दिया है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

इंदौर — राज्य में आपराधिक गतिविधियों पर लगाम कसते हुए पुलिस द्वारा नियमित कार्रवाई की जा रही हैं। इसी बीच एरोड्रम थाना पुलिस ने मध्य प्रदेश के बहुचर्चित व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापमं) घोटाले के मुख्य आरोपी डॉक्टर जगदीश सिंह सागर को देवी अहिल्याबाई होलकर एयरपोर्ट (Devi Ahilya Bai Holkar Airport) से गिरफ्तार किया है।आरोपी जगदीश सागर के बैग से जिंदा कारतूस बरामद किए गए है। इंदौर से ग्‍वालियर फ्लाइट में जाने से पहले चेकिंग के दौरान आरोपी को गिरफ्तार किया है।

बता दें कि शनिवार व्‍यापम घोटाले का आरोपी डॉ. जगदीश सागर फ्लाइट से इंदौर से ग्वालियर जा रहा था। एयरपोर्ट पर की जा रही स्कैनिंग के दौरान उसके बैग में जिंदा कारतूस मिला। इस पर सीआईएसएफ ने पूछताछ की। शुरुआत में डॉक्टर ने बहाने बनाए। आरोपी ने पूछताछ में बताया- व्यापम घोटाले मामले में जेल में रहने के बाद उसकी दो बंदूकों का लाइसेंस रिन्यू नहीं हो पाया था, जिसके बाद उसने दोनों बंदूकें बेच दीं। एक कारतूस गलती से बैग में पड़ा रहा गया। फिलहाल सीआईएसएफ ने कारतूस की जब्ती बनाकर पुलिस को सौंपा।

पुलिस ने आरोपी जगदीश सागर को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी के खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज किया। आपको बताते चलें कि, व्यापम घोटाले के मास्टर माइंड जगदीश सिंह सागर ने पीएमटी में फर्जीवाड़ा कर 100 से ज्यादा विद्यार्थियों को गलत तरीके से मेडिकल कॉलेजों में दाखिला दिलाया था। इस मामले में इंदौर क्राइम ब्रांच पुलिस ने 2013 में डॉ जगदीश को गिरफ्तार किया था। आरोपित को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश किया था, जिसके बाद जमानत पर उसे छोड़ दिया गया।

Back to top button