गुना मामला: IPS को लेट लतीफी करना पड़ा भारी ,CM शिवराज ने लिया सख्त निर्णय, हटाया

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट–  मध्य प्रदेश के गुना में IPS को देरी से पहुचना भारी पढ़ गया हैं जी हां गुना में काले हिरण के शिकारियों के साथ झड़प में तीन पुलिसकर्मियों की गोली मारकर हत्या की घटना में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बड़ा कदम उठाया है. गुना कांड में लापरवाही बरतने पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ग्वालियर के आईजी IPS अनिल शर्मा को देर से आने और उन्हें तत्काल हटाने का निर्देश दिया है.

 

सीएम शिवराज सिंह चौहान गुना में शिकारियों से लड़ते हुए हमारे पुलिसकर्मी शहीद हुए. दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी जो इतिहास में एक मिसाल होगी। दोषियों की पहचान लगभग हो चुकी है। एक जांच चल रही है। पुलिस बल भेजा गया है। अपराधियों को किसी भी कीमत पर रिहा नहीं किया जाएगा।वही मध्य प्रदेश सरकार ने तीन पुलिसकर्मियों के परिवारों को एक करोड़ रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की है। ग्वालियर के आईजी IPS अनिल शर्मा पर सीएम खासे नाराज हुए थे इसके बाद कार्यवाही की गयी हैं.

Trending : बिना सिर के ही ड्यूटी पर पहुंचा Security guard, सामने आई सच्चाई तो लोगों के उड़े होश

इधर, कांग्रेस नेता ने मिले-जुले ट्वीट में लिखा, गुना जिले में 3 पुलिसकर्मी शहीद हुए ! घटना देर रात की है आईजी IPS ग्वालियर की लोकेशन अभी एक घंटे पहले ग्वालियर में थी, ग्वालियर में गुना रोड की दूरी तीन घंटे है, ऐसे कौन है ? लापरवाह अधिकारियों का ख्याल रखें? कोई पूछने की हिम्मत नहीं करता, “महल की पसंद और दया पर पदस्थापन जो हुआ हैं ?” ग्वालियर के आईजी IPS अनिल शर्मा पर सीएम खासे नाराज हुए थे इसके बाद कार्यवाही की गयी हैं.

बता दे की, गुना के एसपी राजीव कुमार मिश्रा को आरोन के सगा बरखेड़ा से बदमाशों के जाने की सूचना दी गई तो पुलिस की 3-4 टीमों को नाकाबंदी के लिए भेजा गया और देर रात शाहरोक के जंगल में चार बदमाशों को 4 -5 बाइक से उन्हें जाते हुए देखा गया तो पुलिस ने इलाके की घेराबंदी कर दी. बदमाशों ने खुद को घिरता देख फायरिंग शुरू कर दी, जिससे सब-इंस्पेक्टर राजकुमार जाटव, कॉन्स्टेबल नीरज भार्गव और कॉन्स्टेबल संतराम की मौके पर ही मौत हो गई.

62 साल के शख्स का इतनी छोटी Ladki पर आया दिल, बेटी ने गुस्से में आकर कहीं यह बड़ी बात है

गुना मामला: IPS को लेट लतीफी करना पड़ा भारी ,CM शिवराज ने लिया सख्त निर्णय, हटाया
photo by google

सख्त कार्रवाई के निर्देश

घटना की सूचना मिलते ही जत्था वहां पहुंच गया और पुलिस फायरिंग में शिकारी नौशाद मेवाती की मौत हो गई. शिकारियों के पास से पांच हिरण और एक मोर के अवशेष बरामद किए गए हैं। एसआई राजकुमार जाटबे का अंतिम संस्कार श्योपुर के कांस्टेबल संतराम के अशोकनगर में किया जाएगा, कांस्टेबल राजीव वर्गीज का अंतिम संस्कार गुनाई में किया जाएगा. शहीदों के अंतिम संस्कार में जिले के प्रभारी मंत्री शामिल होंगे।गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने इस पूरे मामले में कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं और खुद मुख्यमंत्री इस मामले की निगरानी कर रहे हैं।

बदला मंगेतर के kiss करने का तरीका तो चौकी प्रेमिका,पता लगाया कि कहां से सीखा नया स्टाइल

गुना मामला: IPS को लेट लतीफी करना पड़ा भारी ,CM शिवराज ने लिया सख्त निर्णय, हटाया

Back to top button