Jabalpur: रिटायर्ड ASP की प्रोफेसर बेटी का डर्टी गेम Plan,51 साल के बॉयफ्रेंड के साथ मिल डीन पर चलबाई गोली,यह रही वजह

Jabalpur Crime News : प्रोफेसर आरती ने मेरठ ( Meerut Mruder Case) के सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि विश्वविद्यालय (Sardar Vallabh Bhai Patel Agriculture University) के वेटरनरी डीन प्रो. राजवीर सिंह की हत्या की सुपारी दी थी.

Jabalpur Crime News: मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले की रहने वाली प्रोफेसर डॉ. आरती भटेले को मेरठ पुलिस तलाश रही है. प्रोफेसर आरती ने डीन बनने के लालच में मेरठ के सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि विश्वविद्यालय के वेटरनरी डीन प्रो. राजवीर सिंह की हत्या की सुपारी दी थी. आरती भी इसी विश्वविद्यालय में प्रोफेसर के पद पर तैनात है. मूल रूप से छतरपुर की रहने वाली आरती इससे पहले जबलपुर वेटरनरी कॉलेज के पैथोलॉजी डिपार्टमेंट में 29 अगस्त 2007 से 17 जनवरी 2014 तक असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर रह चुकी है. वह विश्वविद्यालय की पशु चिकित्सा विभाग की टीम बनना चाहती थी। इस बीच आरती के खिलाफ कई शिकायतें सामने आई थीं.

DSP पिता की बेटी आरती पर पुलिसिया माहौल के रौब का ऐसा खुमार छाया कि उसने अपनी महत्वाकांक्षांओं के आगे प्रोफेसर की जान भी सस्ती समझी. आरती ने अपने प्रेमी अनिल बालियान के साथ मिलकर डीन की हत्या का प्लान बनाया था. पुलिस मामले की जांच कर रही है. वहीं अब तक आरती के बिल्डर बॉयफ्रेंड अनिल बालियान, सुपारी दिलाने में मदद करने वाले मुनेंद्र बाना, उधम सिंह गैंग के शूटर आशू को गिरफ्तार कर लिया गया है. वहीं आरती और दूसरा शूटर नदीम अभी तक पुलिस के चुंगल से बचने में कामयाब हो गए हैं. पुलिस लगातार आरती की तलाश कर रही है. उनके पिता एक सेवानिवृत्त एएसपी हैं और भाई पुष्पराज भटेले जबलपुर मेडिकल कॉलेज में रेडियोलॉजिस्ट हैं। आरती के ससुराल भी जबलपुर में थे।

तलाक के बाद बॉयफ्रेंड की एंट्री : हमले के बाद की जांच में पुलिस को पता चला कि डीन का विवाद महिला प्रोफेसर आरती भटेले से चल रहा था. इसको लेकर विवि में काफी पत्राचार हुआ था।विश्वविद्यालय प्रशासन ने पुलिस को 100 पन्नों की एक फाइल सौंपी, जिसमें पुलिस को डीन और प्रोफेसर के बीच तनाव के बारे में पता चला. बताया गया कि आरती का संबंध बिल्डर अनिल बालियान से है। यह इनपुट पुलिस को विवि से भी मिला था। अनिल बालियान आरती के बॉयफ्रेंड हैं। उसके तीन बच्चे हैं। आरती शादीशुदा है लेकिन पति से तलाक ले चुकी है। तलाक के बाद अनिल बालियान ने आरती की जिंदगी में एंट्री की थी। अनिल अपनी बेटी का दाखिला कराने आरती के कॉलेज पहुंचे थे। यहां दोनों के बीच मुलाकात शुरू हुई। यह अंतरंगता धीरे-धीरे प्यार में बदल गई।

जबलपुर के सिविल लाइंस थाने में आरती ने इसको लेकर कई शिकायतें भी की हैं. नौकरी के दौरान ही आरती ने अपनी PHD पूरी की है. आरती की PHD भी काफी विवादों में रही है. 2014 में 20 जनवरी को आरती भटेले ने मेरठ कृषि विवि के वेटनरी कॉलेज में पैथोलॉजी डिपार्टमेंट ज्वाइन किया था. यहां भी उसका अक्सर अन्य प्रोफेसर्स के साथ झगड़ा होता रहता था. यहां के कर्मचारियों ने मीडिया को बताया कि आरती काफी दबंग और महत्वाकांक्षी महिला है.डीन की हत्या के आरोप में आरती ने ऊधम सिंह गिरोह के शूटरों को 5 लाख रुपये में सुपारी दी. प्रो आरती ने अपने बॉयफ्रेंड अनिल से कहा कि अगर राजवीर सिंह रास्ते से हट गए तो मैं डीन बन जाऊंगी। अनिल ने बालियान को अपनी बेटी को यूनिवर्सिटी में नौकरी दिलाने का लालच दिया। इसके बाद दोनों के बीच डील फिक्स हो गई। तब अनिल बालियान अपने साथी प्रॉपर्टी डीलर मुनेंद्र बाना को भी अपने साथ ले गए। 11 मार्च की रात को आरती ने डीन पर हमला कर दिया था।

कई सिम थे उनके पास : प्रो. आरती भटेले बेहद शातिर हैं। वह एक-दो नहीं बल्कि एक दर्जन से ज्यादा मोबाइल सिम चलाती थी। वह तय करती थी कि किस व्यक्ति से बात करनी है और किस नंबर पर। इतना ही नहीं महिला प्रोफेसर की नौकरानी की आईडी पर पांच सिम भी थे। नौकरानी का बयान दर्ज करते ही पुलिस के होश उड़ गए। नौकरानी ने पुलिस को बताया कि प्रो. आरती ने एक दर्जन से अधिक मोबाइल सिम का इस्तेमाल किया। महिला प्रोफेसर ने नौकरानी की आईडी पर पांच सिम भी रखे थे। नौकरानी ने कई बार विरोध किया, लेकिन नौकरी जाने के डर से कुछ ज्यादा नहीं कह सकी।

Back to top button