LIC के इस पॉलिसी में जमा करे सिर्फ वन टाइम प्रीमियम,पाए लाइफ टाइम पेंशन, जानिए प्लान की खासियत

New Delhi सरल पेंशन योजना: इस पॉलिसी में निवेश करने के लिए आपकी आयु 40 से 80 वर्ष के बीच होनी चाहिए। इस पॉलिसी में केवल एक ही निवेश किया जा सकता है।

LIC Saral Pension Plan: कोरोना महामारी ने लोगों को अपनी जान बचाने का एक नया तरीका सिखाया है। उन्होंने महसूस किया कि जीवन में सुरक्षित रूप से आगे बढ़ने के लिए बेहतर निवेश युक्तियाँ आवश्यक हैं। यही वजह है कि अब लोग बीमा कंपनियों में खूब निवेश कर रहे हैं और खुद को और अपने परिवार का जीवन सिक्योर कर रहे है।

LIC यानी भारतीय जीवन बीमा निगम एक ऐसी बीमा कंपनी है जिस पर देश के मध्यम वर्ग का सबसे अधिक भरोसा है। एलआईसी की एक बेहतरीन पॉलिसी है जिसमें अगर आप निवेश करते हैं तो आपको आजीवन पेंशन का लाभ मिलेगा।इस पॉलिसी का नाम एलआईसी सरल पेंशन योजना है। इस प्लान की खास बात यह है कि निवेश के साथ पेंशन की सुविधा भी आती है।

ऐसे में अब आपको पेंशन पाने के लिए 60 साल का इंतजार नहीं करना पड़ेगा और 40 साल की उम्र से भी आपको पेंशन मिल सकती है।इस पॉलिसी को खरीदने के बाद ही निवेशक को पेंशन का लाभ मिलना शुरू हो जाता है। यह लाभ बीमित व्यक्ति की मृत्यु तक उपलब्ध है। इसके बाद बीमित व्यक्ति द्वारा जमा की गई प्रीमियम राशि का भुगतान परिवार या नामांकित व्यक्ति को कर दिया जाता है।प्रीमियम जमा करते समय एक पेंशन राशि निश्चित होती है जिसे बाद में बदला नहीं जा सकता।

इस उम्र के लोग कर सकते हैं इस पॉलिसी में निवेश-

इस पॉलिसी में निवेश करने के लिए आपकी आयु 40 से 80 वर्ष के बीच होनी चाहिए। पॉलिसी में केवल एक ही निवेश किया जा सकता है। प्रीमियम मनी के साथ, आपकी वार्षिक पेंशन की राशि तय हो जाती है जिसका भुगतान पॉलिसीधारक को किया जाता है।

ध्यान रहे कि अगर कोई पॉलिसीधारक निवेश के समय एलआईसी साधारण पेंशन योजना में प्रीमियम के रूप में 10 लाख रुपये डालता है, तो उसे हर साल पेंशन के रूप में 50,250 रुपये मिलेंगे।

साथ ही पेंशन की राशि आपके निवेश पर कम या ज्यादा निर्भर करती है। इससे आप अपनी सुविधा के अनुसार महीने, तीन महीने या साल में जिस पेंशन को निकालना चाहते हैं उसे चुन सकते हैं। इस पॉलिसी में निवेश की कोई सीमा नहीं है।

ये सुविधाएं प्रदान करती है पॉलिसी

एक साधारण पेंशन योजना का लाभ यह है कि जब आप इसमें निवेश करते हैं, तो आपको गंभीर बीमारी के दौरान ऋण की सुविधा मिलती है। पॉलिसी खरीदने के 6 महीने बाद आप लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं। वहीं, अगर आप पॉलिसी के बीच में सरेंडर करते हैं तो आप 5 फीसदी काट लेते हैं और 95 फीसदी रिटर्न देते हैं।

पॉलिसी लेने के दो तरीके हैं

आप पॉलिसी को दो तरह से खरीद सकते हैं यानी एक बीमित या दो बीमित के नाम पर। बीमित व्यक्ति की मृत्यु के बाद पैसा नॉमिनी के पास जाएगा। दूसरी ओर, जब दो बीमित होते हैं, तो एक की मृत्यु के बाद, दूसरे को पेंशन दी जाती है और दूसरे की मृत्यु के बाद, नामित मृत्यु को पैसा दिया जाता है।

Back to top button