uncategorized

MP में पहली बार इंदौर के सड़को के ऊपर चलेंगी केबल कार,ट्रैफिक जाम से मिलेगा झुटकारा

इंदौर. मध्य प्रदेश का इंदौर प्रदेश का पहला ऐसा शहर बनने जा रहा है जहां सड़को के ऊपर केबल कार नेटवर्क शुरू किया जाएगा. यानी सड़कों के ऊपर उड़ते हुए अब आप शहर में एक जगह से दूसरी जगह आप अपनी यात्रा कर सकते हैं. सीएमन शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर नगर निगम को इसकी मंजूरी दे दी है. केबल कार के बाद सभी को ट्रैफिक जाम से छुटकारा भी मिलेगा। सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि इंदौर शहर ना केवल स्वच्छता में नंबर वन रहेगा बल्कि यह देश में एक नया इतिहास बनाएगा।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने बुधवार को नगर निगम के इंदौर का विजन डॉक्यूमेंट देखा। इसमें मुख्य रूप से ट्रैफिक का मास्टर प्लान, भीड़ भरे इलाकों में केबल कार चलाने की योजना शामिल थी। प्रजेंटेशन देखने के बाद मुख्यमंत्री ने व्यस्ततम क्षेत्रों में केबल कार चलाने की योजना को सहमति दे दी। इसके साथ ही इंदौर में अब रोपवे केबल कार चलने का रास्ता साफ हो गया है। कलेक्टर मनीष सिंह ने इंदौर के विकास के लिए प्रगति रोडमैप का प्रजेंटेशन दिया। इसे देखने के बाद सीएम ने कहा कि भविष्य में ट्रैफिक व्यवस्था को सुगम बनाने में केबल कार की महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर में सुगम आवागमन सुनिश्चित करने के लिए इस विजन डॉक्यूमेंट 2026 को मंजूरी दी.इस दौरान ट्रैफिक के मास्टर प्लान पर भी बात हुई। इसमें आउटर रिंग रोड के साथ शहर की प्रमुख सड़कें और मेजर रोड के साथ ही मेट्रो, आईएसबीटी के साथ बसों की संख्या 1600 करने संबंधी बात की गई।साथ ही 50 किमी मास्टर प्लान रोड का विकास, एबी रोड पर सात फ्लाईओवर, 83 किमी बाहरी रिंग रोड और बाईपास के दोनों ओर फोर लेन सर्विस रोड को विजन डॉक्यूमेंट में प्रस्तावित किया गया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम इंदौर को देश का सबसे अच्छा विकसित शहर बनाएंगे. न केवल स्वच्छता में बल्कि इंदौर बेहतरीन बुनियादी ढांचे का भी दावा दावेदार होगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि सुचारु यातायात प्रवाह के लिए इंदौर में केबल कार चलाई जाएगी और यह यातायात सुविधा कुछ शहरों के बीच में ही होगी.सीएम शिवराज ने कहा कि सरकार अगले पांच सालों में इंदौर को एक मॉडल शहर बनाने की दिशा में काम करेगी. इसके विकास के लिए सभी प्रयास किए जाएंगे. उन्होंने अधिकारियों को एक विस्तृत प्रस्ताव के साथ रिपोर्ट तैयार करने का भी निर्देश दिया.

इस बीच, अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को बताया कि ये केबल कारें मेट्रो रेल और बीआरटीएस के लिए फीडर के रूप में काम करेंगी. इसके लिए तुलनात्मक रूप से कम बजट और कम जगह की आवश्यकता होती है.
खंडवा रोड सहित कई सड़कों को लेकर मिसिंग लिंक की रिपोर्ट मुख्यमंत्री के समक्ष पेश की गई। इसमें बताया गया कि कौन से प्रोजेक्ट अभी अधूरे हैं। इसके अलावा लोहा मंडी, जूनी इंदौर मंडी, रेती मंडी को शिफ्ट करने की भी मांग रखी गई।

सीधी छुहिया घाटी में भीषण सड़क हादसा,स्कूल बस के ऊपर पलटा बल्कर,तीन की मौके पर मौत

बहू के कमरे से आ रही थी अजीब आवाजें,दरवाजा खोला तो खुल गई पोल

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

Adblock Detected

please dezctivate Adblocker