MP के जुनेद ने अमेरिका में मनवाया लोहा, 200 साल का पुराना रिकॉर्ड तोड़कर यह उपलब्धि किया हासिल

जुनैद काजी ने शनिवार को मार्लबोरो टाउनशिप में परिषद के अध्यक्ष के रूप में शपथ ली। जुनैद काज़ी संयुक्त राज्य अमेरिका में रहते हुए लगभग 200 वर्षों में पहली बार मार्लबोरो टाउनशिप में काउंसिल मैन के अध्यक्ष बनने वाले पहले भारतीय हैं।

भोपाल। अमेरिका में साल 2020 के चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जोसफ़ बाइडन राष्ट्रपति चुन लिए गए हैं और कमला हैरिस उप-राष्ट्रपति चुनी गई हैं.इस जीत के साथ भारतीय मूल की कमला हैरिस ने इतिहास रच दिया है. वह पहली महिला, पहली भारतीय मूल की और पहली अश्वेत अमेरिकी उप-राष्ट्रपति बनने के बाद देशभर में खूब नाम कमाया था अब मध्य प्रदेश के जुनेद काजी ने अपने काबिलियत का परचम लहराया है।

मध्य प्रदेश के अशोकनगर जिले के मुंगावली में पैदा हुए जुनैद काज़ी को मार्लबोरो टाउनशिप, न्यू जर्सी, यूएसए का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। जुनैद काजी ने शनिवार को मार्लबोरो टाउनशिप में परिषद के अध्यक्ष के रूप में शपथ ली। जुनैद काज़ी संयुक्त राज्य अमेरिका में रहते हुए लगभग 200 वर्षों में पहली बार मार्लबोरो टाउनशिप में काउंसिल मैन के अध्यक्ष बनने वाले पहले भारतीय हैं।

चचेरे भाई स्कूल के निदेशक एडवोकेट अब्दुल करीम अंसारी ने कहा कि जुवेद के दादा दिवंगत हैं। उनके दादा स्वर्गीय काजी अब्दुल रज्जाक सीमा शुल्क आयुक्त के पद से सेवानिवृत्त हुए थे। उसके पिता स्वर्गीय काजी अब्दुल खालिक अंसारी पुलिस अधीक्षक के पद से सेवानिवृत्त हुए थे। 1994 में अपनी इंजीनियरिंग खत्म करने के बाद, जुनैद काज़ी अमेरिका के न्यू जर्सी चले गए और वहां निर्माण कार्य शुरू किया। उन्होंने अमेरिका में भारतीय जनता पार्टी के लिए बहुत प्रचार किया ताकि उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अच्छी किताब में शामिल किया जा सके।

जुनैद काज़ी अमेरिका दूतावास न्यूयॉर्क में भी अपनी अलग छवि बनाई हुई है। उन्हें न्यू जर्सी में मार्लबोरो टाउनशिप का अध्यक्ष नियुक्त किए जाने पर नगरवासियों में खुशी की लहर है। देश में ही नहीं विदेश में भी मुंगावली के काजी परिवार ने अपना वर्चस्व बनाया अपनी क्षमता का लोहा मनवाया हैं । जुनेद अमेरिकनो सहित अपने भारतीय साथियों के साथ भारतीयों की समस्या का समाधान करते चले आ रहे हैं।

उनके बड़े भाई काजी अब्दुल रहमान माइनिंग ऑफिसर हैं तो वहीं चचेरे भाई अब्दुल करीम अंसारी सुप्रीम कोर्ट के एडवोकेट है। नावेद काजी चीफ सिक्युरिटी ऑफिसर है। बड़ी बहन आयशा मप्र होम्योपैथिक काउंसिल में रजिस्ट्रार, छोटी बहन डॉ. आसमा खान समाजसेवा में लगी हैं। अब्दुल करीम अंसारी के बेटो ने क्षेत्रवासियों व गरीबों की सेवा के लिए भोपाल में अस्पताल भी खोला है। इसके अलावा परिवार में चार पायलट, आठ डॉक्टर, प्रोफेसर, शिक्षक तथा पुलिस अधिकारी शामिल है।

Back to top button