MP: पत्नी से गैंगरेप के आरोपियों से फिल्मी स्टाइल में लिया बदला, बटन स्टार्ट करते ही उड़े चिथड़े

कुछ दिन पहले एक किसान लाल सिंह ने रतलाम के रट्टागड़खेड़ा गांव में अपने खेत में ट्यूबवेल चलाने के लिए बटन दबाया तो उसके चिथड़े उड़ गए। जांच के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन जैसे ही उसने हत्या का कारण बताया, सभी लोग हैरान रह गए। उसने पत्नी से सामूहिक दुष्कर्म का बदला लेने के लिए हत्या को अंजाम दिया।

म.प्र के रतलाम जिले में पत्नी के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म का पति ने फिल्मी स्टाइल में बदला लेते हुए आरोपी को मौत के घाट उतार दिया. पहले हमले में जब आरोपी नहीं मरा ताे छह महीने बाद फिर से हमला करके अपना ‘बदला’ लिया. मामले का खुलासा होने के बाद पुलिस ने आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है जबकि गैंगरेप के बचे अन्य दो आरोपियों को भी पकड़ा है. हमला करने के लिए विस्फोटक देने वाले को भी गिरफ्तार कर लिया है.

रतलाम के रत्तागड़खेड़ा गांव में कुछ दिन पहले किसान लाल सिंह ने अपने खेत में जैसे ही ट्यूबवेल स्टार्ट किया पलक झपकते ही उसके चिथड़े उड़ गए. पुलिस को शुरूआती जांच में ही शक हो गया कि यह हत्या है. विवेचना में पुलिस को पता चला कि गांव का ही एक युवक घटना वाले दिन से परिवार के साथ गायब है. पुलिस ने उसका मोबाइल ट्रैसिंग से उसका पता लगाया और उसे पकड़ लिया। पूछताछ करने पर वह टूट गया और पूरा खुलासा किया. उसने बताया कि उसने विस्फोटक को मोटर के स्टार्टर से जोड़ा था और जैसे ही लाल सिंह ने बटन दबाया वहां विस्फोट हो गया. 

क्यो रची हत्या की साजिश

लाल सिंह की हत्या के सिलसिले में गिरफ्तार सुरेश ने कहा कि उसकी पत्नी के साथ एक साल पहले पूर्व सरपंच भवरलाल, लाल सिंह और दिनेश ने सामूहिक बलात्कार किया था। तीनों उसे धमका रहे थे, फिर उसने तीनों को जान से मारने की कसम खा ली। पहले तो उसने भवरलाल को मारने की कोशिश की। उन्होंने उसे उसी तरह से मारने की कोशिश की, लेकिन उस समय विस्फोटकों की कमी के कारण उसकी मौत नहीं हुई, फिर 4 जनवरी को रात 3 बजे वह लाल सिंह के खेत पहुंचा। एक पेचकश और एक कुदाल के साथ मिट्टी खोदें और इसे 14 रॉड और डेटोनेटर ट्यूबवेल स्टार्टर से जोड़ा। उसके बाद सुबह लाल सिंह ने जैसे ही स्टार्टर का बटन दबाया विस्फोटक पदार्थ फटा और उसके शरीर का चीथड़े उड़ गए. 

डर के भाग गया मंदसौर

पुलिस ने बताया कि ग्रामीणों ने बताया कि सुरेश लोढ़ा का व्यवहार भवर लाल के लिए सामान्य बिल्कुल नही है। घटना के पहले से संदिग्ध दिख रहा था. घटना के पहले ही वह बच्चों को मंदसौर के पास छोड़ आया था और बाद में वह खुद भी वहीं चला गया. पुलिस ने जब पूछताछ की तो पहले तो उसने पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की लेकिन जब पुलिस सख्ती से पेश आई तो वह टेट गया उसने हत्या करना कबूल कर ली. 

विस्फोटक देने वाला भी गिरफ्तार

मामले में बद्रीलाल के पिता सिमलावड़ा निवासी 40 वर्षीय रामेश्वर पाटीदार को भी गिरफ्तार किया गया था. उसने हत्या के लिए डेटोनेटर और जिलेटिन बेचा। उसके पास इन विस्फोटकों को बेचने का लाइसेंस भी नहीं है। एसपी ने आगे कहा कि पुलिस ने जांच के दौरान आरोपी और अन्य ग्रामीणों से पूछताछ की तो पता चला कि गांव में लगभग सभी को डेटोनेटर, जिलेटिन और विस्फोटक की जानकारी थी. ग्रामीण इसका उपयोग कुएं आदि खोदने के लिए करते हैं।

गांव के सभी लोगों को डेट्रोनेटर,जिलेटिन के द्वारा विस्फोट करने की जानकारी

मामले में बद्रीलाल पिता रामेश्वर पाटीदार उम्र 40 साल निवासी सिमलावदा को भी गिरफ्तार किया गया है.आरोपी को उसने ही हत्या के लिए डेट्रोनेटर और जिलेटिन बेचा था. उसके पास इन विस्फोटक को बेचने का लाइसेंस भी नहीं है. एसपी ने यह भी बताया कि पुलिस ने जब आरोपी और अन्य ग्रामीणों से जांच के दौरान पूछताछ की तो पाया गया कि गांव में लगभग सभी को डेट्रोनेटर, जिलेटिन के द्वारा विस्फोट करने और उसके तरीके का ज्ञान है.अमूमन ग्रामीण कुएं आदि खोदने के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं. 

गैंगरेप के अन्य आरोपी गिरफ्तार

पुलिस ने जहां हत्या के आरोपी को गिरफ्तार किया वहीं आरोपी की पत्नी के साथ गैंगरेप करने का मामला दर्ज करते हुए दो अन्य आरोपियों सरपंच भवरलाल, दिनेश के खिलाफ भी मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है. एसपी रतलाम गौरव तिवारी ने कहा कि आरोपियों को कड़ी सजा मिलेगी. 

Back to top button