MP- CID ने पुलिस को किया अलर्ट,लूट,गृहभेदन और डकैती की घटनाओं में इजाफा होने की आशंका,देखें - विंध्य न्यूज़

इंदौर । प्रदेश में अभी भी कोरोना अपना कहर दिखा रहा है पुलिस की मुश्किलें अभी कम भी नहीं हुई है तो नहीं आप उन्हें एक नई चुनौती का सामना करना पड़ सकता है ऐसी आशंका सीआईडी ने जताई है। लॉकडाउन के कारण प्रदेश में पिछले तीन महीने में 70 फीसदी तक क्राइम (अपराध) कम हो गया है। लेकिन लॉकडाउन हटने के बाद फिर से क्राइम बढ़ने की आशंका जताई जा रही है.

अनलॉक-1 शुरू होते ही लूट-चोरी जैसी घटनाएं शुरू हो गईं। दरअसल  चिंतित अपराध अन्वेषण ब्यूरो (सीआइडी) मुख्यालय ने सभी एसपी और डीआइजी को पत्र लिखकर चेतावनी जारी की है। सीआइडी को आशंका है कि महामारी के कारण बेरोजगारी बढ़ेगी और लूट-डकैती, चोरी जैसे अपराधों पर नियंत्रण मुश्किल हो जाएगा।


बेरोजगारी के कारण निकट भविष्य में बढ़ेगा अपराध–सीआइडी एडीजी कैलाश मकवाणा ने प्रदेश के सभी एसपी और डीआइजी को एक गोपनीय पत्र भेज अलर्ट किया है। मकवाणा ने कहा कि विगत दो माह से पुलिस अधिकारी और कर्मचारी कोविड-19 महामारी समस्या नियंत्रण और लॉकडाउन पालन में जुटे हुए थे। इस कारण पुलिस के व्यावसायिक कार्य पूर्णतः प्रभावित रहे। महामारी के कारण कई लोगों के रोजगार खत्म हो गए लोग बेरोजगार हुए हैं। ऐसे में बेरोजगारी के कारण निकट भविष्य में संपत्ति संबंधी अपराध जैसे लूट, गृहभेदन,चेन लूट, मोबाइल लूट, एटीएम में चोरी, डकैती जैसे अपराध बढ़ सकते हैं। एसपी सभी इकाइयों को मूल कार्य में लगा देवें।


पैरोल पर छूटे अपराधियों से ज्यादा खतरा एडीजी ने यह भी कहा कि कोरोना के कारण पैरोल पर छूटे अपराधियों से ज्यादा खतरा है। इसके चलते पुलिस ने अभी से गुंडा-बदमाशों की निगरानी करना शुरू कर दिया है। जिससे ये किसी भी तरह की बारदात को अंजाम न दे सके। साथ ही जिले की सीमा पर भी नाकाबंदी कर चौकसी बढ़ाई गई है।उनके पुनः सक्रिय होने की आशंका है। संबंधित थाने पैरोल पर छूटे अपराधियों की सतत नियमित निगरानी करें और संलिप्तता की पुष्टि कर पैरोल निरस्त करवा दें।

बाहरी इलाके और घाट क्षेत्र में ज्यादा खतरा
सीआइडी एडीजी ने रिपोर्ट में यह भी उल्लेख किया है कि शहर के बाहरी इलाकों में रहने वाले लोगों को अधिक खतरा है। दुर्गम इलाकों में लूट, डकैती, वाहनों में जेब कतरो जैसी घटनाएं हो सकती हैं। पुलिस अधिकारी संभावित स्थानों को तत्काल चिन्हित कर रात्रि गश्त और दिन में सघन चेकिंग अभियान बनाकर शुरू करे। ग्राम रक्षा समिति के  सदस्यों से भी सतत पेट्रोलिंग करवाई जाए। उन्होंने सुझाव देते हुए कहा कि कोरोना के कारण जिन स्थानों को चिन्हित किया था उनकी समीक्षा कर पुलिस बल को उन स्थानों पर तैनात कर दें जहां घटना होने की संभावना रहती है।


रात में बेवजह घूमने वालों को पकड़ें : आइजी
चोरी और लूट जैसी घटनाओं को रोकने के लिए आइजी विवेक शर्मा ने जिले के सभी सीएसपी व टीआई को निर्देशित करते हुए कहा है कि बेवजह है घूमने वालों की धरपकड़ किया जाए. अनलॉक-1 में रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक घूमने की मनाही है। सिर्फ विशेष कारणों पर ही बाहर जा सकते हैं। उन्होंने संदेहियों की धारा 188 और 109 के तहत गिरफ्तारी के निर्देश दिए हैं। आइजी ने कहा कि संबंधित एसपी कार्रवाई की निगरानी करेंगे।

एसपी-डीआइजी को दिए निर्देश


*संपत्ति संबंधित अपराधों में लिप्त अपराधियों की अलग से करें सूची तैयार।
* फरार आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए टीम गठित कर वारंट तामीली करवाएं।
* पिछले 10 वर्षों में चोरी-लूट में लिप्त बदमाशों की हिस्ट्रीशीट फाइल तैयार करें।
* चोरी व लूट में लिप्त बदमाशों की गैंग की सूची तैयार कर निगरानी करें।
* न्यायालय में विचाराधीन हैं तो तत्काल गवाही कर सजा दिलाने का प्रयास करें।
* पैरोल पर छूटे बदमाशों की संलिप्तता देख पैरोल निरस्त करवाया जाए।
* लंबे समय से फरार आरोपितों की गिरफ्तारी पर इनाम की घोषणा करें।

5 thoughts on “MP- CID ने पुलिस को किया अलर्ट,लूट,गृहभेदन और डकैती की घटनाओं में इजाफा होने की आशंका,देखें

  1. Hello there! This is kind of off topic but I need some guidance from an established blog. Is it very hard to set up your own blog? I’m not very techincal but I can figure things out pretty fast. I’m thinking about creating my own but I’m not sure where to begin. Do you have any tips or suggestions? Thank you

  2. That is the suitable blog for anyone who needs to search out out about this topic. You realize a lot its nearly hard to argue with you (not that I actually would want…HaHa). You definitely put a new spin on a subject thats been written about for years. Great stuff, simply nice!

Comments are closed.