MP: चपरासी एक दिन का लिए बना अफसर, गंदगी फैलाने वालों पर 200 जुर्माने का निकाला आदेश - विंध्य न्यूज़
MP: चपरासी एक दिन का लिए बना अफसर, गंदगी फैलाने वालों पर 200 जुर्माने का निकाला आदेश

photo by google

MP – मध्य प्रदेश के भिंड में, ब्लॉक शिक्षा अधिकारी ने एक दिन के लिए अपने कार्यालय के चपरासी को अपना काम सौंप दिया। चतुर्थ श्रेणी अधिकारी कार्यभार ग्रहण (take charge)करने के बाद विद्यालय (School)का निरीक्षण करते हैं और रजिस्टर की जांच करते हैं। इस दौरान आदेश जारी किया गया कि सभी लोग समय से स्कूल आएं और जो कोई भी विद्यालय परिसर में गंदगी फैलाएगा उसे 100 रुपये जुर्माना देना पड़ेगा।

MP – मध्य प्रदेश के भिंड में, ब्लॉक शिक्षा (block education)अधिकारी ने अपने कार्यालय में काम करने वाले चपरासी को एक दिन के लिए अपने कर्तव्यों को सौंप दिया। कार्यभार ग्रहण करने के बाद कर्मचारी( Staff)ने अहम आदेश जारी किए। एक दिन के लिए अधिकारी बनने के बाद आदेश जारी किया गया कि जो कोई भी कार्यालय में गंदगी करेगा या नशे में धुत होकर कार्यालय आएगा, उस पर 200 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा.

MP – भिंडेरा प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी(education officer) सुदामा सिंह भदौरिया ने अपने कार्यालय में कार्यरत चपरासी रमेश श्रीवास को बीईओ के रूप में एक दिन के लिए प्रतिनियुक्त किया. हालांकि उनके पास प्रशासनिक और वित्तीय अधिकार नहीं थे, क्योंकि यह एक लंबी प्रक्रिया है.MP

एक दिन के लिए प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी बने रमेश श्रीवास ने कहा कि 37 साल हो गए सेवा करते हुए, लेकिन उन्होंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि उन्हें अधिकारी की कुर्सी पर बैठने का मौका मिलेगा.MP

पदभार लेने के बाद स्कूल का दौरा किया, रजिस्टर की जांच की – MP

रमेश श्रीवास का कहना है कि मैं प्रतिदिन कार्यालय में कार्यरत कर्मचारियों की सेवा में लगा रहता हूं, लेकिन 1 दिन प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी रहने के बाद सभी विद्यालय का भ्रमण किया.रमेश ने बताया कि स्कूल का दौरा करने के दौरान उन्होंने रजिस्टर चेक किया। साथ ही सभी को समय से कार्यालय आने की हिदायत दी गई है। साथ ही कार्यालय में कूड़ा फेंकने, इधर-उधर थूकने, सिगरेट पीने व नशा करने वालों पर 200 टका जुर्माना लगाने का आदेश दिया है.MP

‘ऐसा मत सोचो कि हम छोटे कर्मचारी हैं, इसलिए टेस्ट किया’-MP

वहां बीईओ भदौरिया ने कहा कि मैंने ऐसा इसलिए किया इसका मकसद है कि कोई भी कर्मचारी यह महसूस न करे कि हम छोटे कर्मचारी हैं। मेरा मानना ​​है कि प्रशासन द्वारा नियुक्त सभी कर्मचारियों में निहित शक्तियाँ अपने आप में महत्वपूर्ण हैं। यह फैसला कर्मचारियों और अधिकारियों के बीच भेदभाव खत्म करने के लिए लिया गया है.MP

also read – Singrauli: कन्या कॉलेज के प्राचार्य का एक और कारनामा, 15 लाख रूपए में खरीदे 208 टेबल, DMF फंड में भ्रष्टाचार

MP: चपरासी एक दिन का लिए बना अफसर, गंदगी फैलाने वालों पर 200 जुर्माने का निकाला आदेश

photo by google

also read – MP News: रीवा – सीधी रेल यात्रियों को खुशखबरी, नहीं होगी ट्रेन लेट, जानिए प्लान

MP: चपरासी एक दिन का लिए बना अफसर, गंदगी फैलाने वालों पर 200 जुर्माने का निकाला आदेश
photo by google