MP – UP पर बना बैरियर बिना कर्मचारियों के कैसे सुरक्षित

सिंगरौली 23 नवम्बर। जिले के सीमावर्ती झरकटा मार्ग में धान के अवैध परिवहन को रोकने के लिए बैरियर लगा दिया गया है, किन्तु बैरियर पर कोई सरकारी अमला दूर-दूर तक नजर नहीं आ रहा है। जिसके चलते धड़ल्ले के साथ यूपी की धान अंचल में खपाई जा रही है। सिंगरौली जिला के चितरंगी सीमा पर स्थापित बैरियर पर ही सुरक्षा व्यवस्था भगवान भरोसे है। विन्ध्य न्यूज की टीम ने 23 नवंबर की सुबह 7 बजे जिला के सीमांत क्षेत्रों का दौरा किया तो बैरियर पर एक भी पुलिस कर्मचारी तैनात नहीं मिला।

गौरतलब हो कि जिले में 29 नवम्बर से समर्थन मूल्य के तहत धान का उपार्जन आरंभ किया जायेगा। जहां सीमावर्ती राज्यों से धान के परिवहन व बिक्री पर कलेक्टर ने रोक लगाया है। सीमावर्ती राज्यों से धान का परिवहन न हो इसके लिए सीमावर्ती गांव में चेक पोस्ट तैयार कराया गया है। साथ ही कर्मचारियों की चौबीस घण्टे अलग-अलग शिफ्ट में ड्यूटी लगायी गयी है। तहसील चितरंगी के नौडिहवा पुलिस चौकी अंतर्गत सीमावर्ती झरकटा गांव के मुख्य मार्ग में बैरियर लगाया गया है किन्तु आज सुबह से दूर-दूर तक कर्मचारी नहीं दिखे। धड़ल्ले से टै्रक्टर बोरियों में धान लेकर यूपी से चितरंगी अंचल में प्रवेश कर रहे थे। उन्हें रोकने टोकने वाला दूर-दूर तक नजर नहीं आ रहा था। यहां के नागरिकों ने कलेक्टर एवं एसडीएम चितरंगी का ध्यान आकृष्ट कराते हुए यूपी से अवैध रूप से आने वाली धान पर रोक लगाये जाने की मांग की है।

Back to top button

Adblock Detected

please dezctivate Adblocker