uncategorized

NCL के अमलोरी प्रोजेक्ट में CBI का छापा, कोयला घोटाले की आशंका,CBI एवं CMPDI टीम की संयुक्त कार्रवाई

सिंगरौली 19 मार्च। एनसीएल परियोजना अमलोरी के कोलयार्ड में शुक्रवार को जबलपुर की सीबीआई एवं बिजलेंस की टीम ने छापामार कार्रवाई शुरू की है। सीबीआई की इस कार्रवाई से एनसीएल में हड़कम्प मचा हुआ है। छापामार कार्रवाई की पुष्टि सीबीआई जबलपुर एसपी ने की है।

सूत्रो से मिली जानकारी के मुताबिक सीबीआई जबलपुर एवं बिजलेंस के करीब डेढ़ दर्जन सदस्यों की टीम ने एनसीएल परियोजना अमलोरी के कोलयार्ड में शुक्रवार की दोपहर छापामार कार्रवाई की है। सूत्र आगे बताते हैं कि एनसीएल परियोजना के कोलयार्ड के स्टॉक में व्यापक पैमाने पर हेराफेरी व गड़बड़ी करने की शिकायत सीबीआई को मिल रही थी। जहां सीबीआई की टीम आज कोलयार्ड पहुंच जांच शुरू कर दिया है। सूत्र तो यहां तक बता रहें है कि कोलयार्ड में कोयला का भंडारण ज्यादा दिखाया जा रहा है और मौके पर स्टॉक कम है। सीबीआई की टीम ने रैक का भी जायजा लिया है,साथ ही जांच पड़ताल की जा रही है। इस संबंध में जहां सीबीआईजबलपुर के पुलिस अधीक्षक के अनुसार अमलोरी परियोजना के कोलयार्ड में टीम जांच करने पहुंची है। कार्रवाई के विस्तृत जानकारी कल शनिवार को उपलब्ध हो पायेगी।

पुलिस अधीक्षक के अनुसार जांच पड़ताल करने में शनिवार तक का वक्त लग सकता है। इधर एनसीएल के अधिकारी इस मामले में कुछ भी बोलने के स्थिति में नही बल्कि गोलमाल जवाब देते हुये कहा जा रहा है कि सीबीआई की टीम कोयला स्टॉक के रुटीन जांच करने आयी है। फिलहाल एनसीएल परियोजना अमलोरी के कोलयार्ड में सीबीआई की छापामार कार्रवाई से हेरफेर करने वाले कथित एनसीएल कर्मियों में हड़कम्प मचा हुआ है।

कोयला स्टॉक में गड़बड़ी की आशंका

एनसीएल परियोजना अमलोरी के कोलयार्ड के स्टॉक में भारी गड़बड़ी किये जाने की आशंका की जा रही है। चर्चाओं के मुताबिक कोलयार्ड के स्टॉक में कोयले का भंडारण कम बताया जा रहा है जबकि कागज में स्टॉक ज्यादा दिखाया जा रहा है। वहीं कोयले के बिक्री में व्यापक तौर पर घालमेल करने की बू आ रही है। इसकी लगातार मिल रही शिकायतों के मद्देनजर सीबीआई की टीम ने छापामार कार्रवाई की है। हालाकि इसका खुलासा कल शनिवार को हो जायेगा की कोलयार्ड में कितने का हेरफेर किया गया है।

एनसीएल को कोयला उत्पादन के लक्ष्य को पूरा करने की होड़

एक बात यह भी सामने आ रही है कि 31 मार्च तक 113 मिलियन टन कोयला उत्पादन करने का लक्ष्य एनसीएल का है ऐसे में कंपनी के इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए सभी प्रोजेक्ट्स के बीच होड़ सी मच गई है इस होड़ में प्रोडक्शन को बढ़ा चढ़ा कर दिखाए जाने की आशंका है। सूत्रों का तो यहां तक कहना है कि भले सीबीआई व सीएमपीडीआईएल की संयुक्त टीम ने छापेमारी शुक्रवार की है लेकिन यहां कोयले से जुड़ी हेराफेरी की गतिविधियों पर सीबीआई द्वारा काफी पहले से नजर रखी जा रही थी यानी यह कहे तो गलत नहीं होगा कि इस कार्यवाही को अंजाम देने के पहले बकायदा रेकी की गई थी पुख्ता तथ्य सामने आने के बाद छापे मार कार्यवाही की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

Adblock Detected

please dezctivate Adblocker