Pm Modi Bhopal Visit- पीएम मोदी के आने से पहले सुरक्षा एजेंसियां हुई अलर्ट, कलेक्टर ने दिया यह आदेश

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार 15 नवंबर को भोपाल पहुंच रहे हैं ऐसे में पीएम नरेंद्र मोदी की सुरक्षा को लेकर एजेंसी अलर्ट मोड पर है। मोदी जिस स्थान पर जाएंगे वहां सुरक्षा वालों ने डेरा डाल लिया है जबकि राजधानी के चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाबलों द्वारा सीसीटीवी कैमरा से निगरानी रखेंगे सुरक्षा ऐसी रहेगी कि परिंदा भी पर नहीं मार पाएगा इस दौरान भोपाल कलेक्टर ने भी वीवीआईपी मूवमेंट को लेकर नई गाइडलाइन जारी की है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भोपाल पहुंच जनजातीय गौरव दिवस के मौके पर जम्बूरी मैदान पर आयोजित भव्य समारोह को संबोधित करेंगे। इस कार्यक्रम में प्रदेशभर के अलग-अलग जिलों से करीब दो लाख लोगों के आने का भी अनुमान लगाया जा रहा है। वह भोपाल में करीब 3 घंटे तक रुकेंगे। इसके साथ ही पीएम मोदी 450 करोड़ से बने वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन हबीबगंज का भी लोकार्पण करेंगे। मोदी के दौरे में सोलर ऊर्जा के उपयोग को प्रोत्साहन देने के लिए भी राज्य सरकार ऊर्जा साक्षरता मिशन प्रारंभ होने जा रहा है। मोदी इसका भी शुभारंभ करेंगे।पीएम मोदी स्किल सेल मिशन के पायलट प्रोजेक्ट का भी शुभारभ करेंगे।

station 4

राजधानी में 2 हेलीपैड बनाए गए

पीएम मोदी के लिए राजधानी भोपाल में दो स्थानों पर हेलीपेड बनाए गए हैं। पीएम मोदी स्टेट हैंगर से जंबूरी मैदान पर हेलिकाप्टर के जरिए पहुंचेंगे। इसके बाद बरकतउल्ला विश्वविद्यालय में बनाए गए हेलिपेड पर उतरेंगे। वे यहां से हबीबगंज रेलवे स्टेशन तक सड़क मार्ग से जाएंगे। दोनों ही स्थलों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

सुरक्षा व्यवस्था रहेगी अभेद्य

एमपी दौरे पर आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा व्यवस्था अभेद्य रहेगी। एयरपोर्ट से लेकर जंबूरी मैदान जनसभा स्थल तक तगड़ा सुरक्षा घेरा रहा। बिना जांच किसी को भी जनसभा स्थल के अंदर प्रवेश की अनुमति नहीं थी। वहीं, सेना के हेलीकाप्टर से भी जनसभा स्थल की निगहबानी होती रही। प्रधानमंत्री की सुरक्षा में लगी एसपीजी के अधिकारी बगैर अनुमति व पास आने वाले कई नेताओं को बाहर का रास्ता दिखा देगी। वीआईपी गेट और जनता प्रवेश द्वार पर तैनात सुरक्षा कर्मी पूरी मुस्तैदी के साथ डटे रहेंगे।

आदिवासी समाज पर फोकस

पीएम मोदी के इस आयोजन में आदिवासियो की सभी जातियों को बुलाया जाएगा। इस कार्यक्रम के जरिए देशभर के आदिवासियों को साधने का प्रयास किया जाएगा। इनमें गौंड, भील, कोल व सहरिया शामिल हैं। गौरतलब है कि आदिवासियों को 14 नवंबर को विदिशा, रायसेन,सांची व सीहोर में ठहराया जाएगा। इसके बाद 15 नवंबर को सुबह जंबूरी मैदान पर पहुंचा दिया जाएगा।

भोपाल कलेक्टर ने दिए आदेश

प्रधानमंत्री के दौरे तय होने के बाद भोपाल के कलेक्टर अविनाश लवानिया ने धारा 144 के तहत आदेश जारी किए हैं। उल्लंघन करने पर धारा 188 के तहत कार्रवाई होगी। इस संबंध में डीआईजी इरशाद वली को भी जांच के आदेश दिए हैं। भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया ने धर्मशाला, होटल, लॉज, ढाबों में रुकने समेत किराएदारों, पेइंगेस्ट, नौकरों और भवन निर्माण में काम करने वाले श्रमिकों से संबंधित जानकारी पुलिस को देने को कहा है। कलेक्टर की ओर से जारी आदेश में यह भी कहा गया है कि कोई भी व्यक्ति अपना मकान या उसका भाग तब तक किसी को किराए पर नहीं देगा, जब तक वह व्यक्ति पूरी जानकारी पुलिस को न दे देता। घरेलू नौकर भी जानकारी पुलिस को देना जरूरी है। किसी घर में जो पहले से काम कर रहे हैं, उनकी जानकारी भी देने को कहा गया है।

120 चेकिंग प्वाइंट लगेंगे

सूत्रों के मुताबिक मोदी के दौरे को लेकर पांच हजार जवान तैनात करने की तैयारी की जा रही है। पीएचक्यू से विशेष बल मांगा गया है। इसके अलावा 1200 ट्रैफिक के जवान भी तैनात रहेंगे। इसके अलावा भोपाल शहर की सीमाओं को मिलाकर पूरे शहर में 120 चेकिंग प्वाइंट बनाए जाएंगे। क्यूआरएफ, आरपीएफ और जिला पुलिस की टीमें भी तैनात रहेंगी। सुरक्षा की दृष्टि से कई टीमें उन स्थलों का दौरा कर रही है, जहां पीएम मोदी जाने वाले हैं।

Back to top button

Adblock Detected

please dezctivate Adblocker