uncategorized

SINGRAULI,NCL जयंत जीएम सहित अधिकारियों पर आपराधिक मामला दर्ज करने की मांग,यह रही वजह

सिंगरौली — प्रतिदिन दोपहर होते ही जयंत कोयला खदान में कोयला उत्पादन के लिए एक के बाद एक कई धमाके किए जाते हैं इन धमाकों में वहां बने घरों में रहने वाले लोगों को दहशत के बीच जीने को मजबूर हैं वह जानकारी मोरवा थाने में लिखित आवेदन दिया गया है स्थानीय लोगों ने जयंत परियोजना के जरिए जनरल मैनेजर आरबी प्रसाद,प्रोजेक्ट ऑफीसर आरके सिंह और कोलियरी मैनेजर भंवर सिंह पर एफ आई आर दर्ज कर कानूनी कार्यवाही करने की मांग की है.

कमलनाथ ने पूछा शिवराज जी आजकल कौन से मूड में है ? माफिया ना जमीन में गढ़ रहे हैं,ना टग रहे है,ना निपट रहे हैं

सामूहिक रूप से दिए गए आवेदन में उनका आरोप है कि एनसीएल के जयंत क्षेत्र के विस्तार हेतु ग्रामीण मेंढ़ौली की भूमियों का अधिग्रहण अधिसूचना क्रमांक 3065 दिनांक 20 अक्टूबर 2011 के माध्यम से किया गया था किंतु आज दिनांक तक प्रार्थी की भूमि एवं भवन उस में स्थापित राइस मिल आज का अधिग्रहण कर छोड़ दिया गया है भूमि और भवन का प्रतिकार प्रदान नहीं किया जा रहा है वही पुनर्वास की व्यवस्था अथवा भूमि की एवज में कोल इंडिया सर्कुलर के मुताबिक दी जाने वाली सुविधाओं का लाभ भी नहीं दिया गया है।

ढाई वर्ष पूर्व लापता हुई नाबालिक किशोरी को बांग्लादेश के सीमा से किया दस्तयाब

पीड़ितों ने बताया कि 4 फरवरी को जयंत खदान ब्लास्टिंग से उछलकर 1 से 2:00 के बीच पत्थर नुमा टुकड़ा प्रार्थी के आगन में आ पहुंचा सीट वाली छत टूट गई और जन हानि की आशंका बनी हुई है ऐसी हालत हर दिन होती है अचानक होने वाली इस ब्लास्टिंग से मकानों को क्षति पहुंच रही है इसलिए जयंत परियोजना के अधिकारियों पर मामला दर्ज कर कानूनी कार्यवाही की जाए इस दौरान आवेदक केवल नाथ सिंह, कन्हैया लाल,इंद्रमणि कुशवाहा, वीरेंद्र कुमार ,रामनिवास राजभर वह उमेश बैगा सहित कई लोगों मोरवा थाने पहुंच शिकायत दर्ज कराई है।

एक्शन में सरकार: रिश्वतखोरी की जांच शुरू,गिर सकती है कार्रवाई की गाज,SIDHI NEWS

आवेदकों ने बताया कि इस समस्या को लेकर 16 नवंबर 2020 को राइस मिल के पास धरना प्रदर्शन भी किया गया था 23 अक्टूबर को त्रि पक्षीवार्ता  हुई लेकिन अभी तक समस्या जस की तस बनी हुई है मेंढ़ौली वासियों को ना विस्थापन का लाभ दिया जा रहा और ना ही नौकरी उचित प्रति कर प्रदान कर हटाने के बजाय जबरन ब्लास्टिंग की जा रही है जयंत परियोजना को सुरक्षा क्षेत्र बना कर दो सौ मीटर दूर ब्लास्टिंग करने के लिए निर्देशित किया जाए और शिकायत को घटना की जांच कर एफ आई आर दर्ज कर उचित कार्रवाई की जाए।

 टीआई के घर में धमकी भरी चिट्ठी, तुमने हमारा गैंग पकड़ा हम 7 दिन में तुम्हें निपटा देंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button