उत्तर प्रदेश

CM YOGI एक्शन मोड में , अब अतीक अहमद व उसके सहयोगियों की तरफ मुड़ा बुलडोजर,माफियाओं की बड़ी टेंशन

पूर्व सांसद ने कौशांबी रोड-केसरिया मार्ग पर पांच हजार वर्ग मीटर क्षेत्र में बिना नक्शा स्वीकृति के करीब 600 वर्ग मीटर क्षेत्र का निर्माण कराया था।

उत्तर प्रदेश में 2.0 बीजेपी सरकार बनने के बाद फिर एक बार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बुलडोजर अपने काम पर वापस आ गया. बाबा के बुलडोजर का इस्तेमाल बड़े अपराधियों,अवैध सम्पतियों के कब्जे हटाने के लिए लाया जाता हैं ।अब पूर्व सांसद अतीक अहमद और उनके साथियों पर सोमवार को बुलडोजर चलाया जाएगा। प्रयागराज विकास प्राधिकरण ने अतीक की जमीन पर बने खालिद जफर के अवैध चारदीवारी और अवैध भूखंडों को गिराने की तैयारी कर ली है. पूर्व सांसद ने कौशांबी रोड-केसरिया मार्ग पर पांच हजार वर्ग मीटर क्षेत्र में बिना नक्शा स्वीकृति के करीब 600 वर्ग मीटर क्षेत्र का निर्माण कराया था।

बता दें कि यूपी में दूसरी बार योगी आदित्यनाथ को सत्ता की चाबी मिलने के बाद भू माफियाओं में दहशत का माहौल है माफिया या तो खुद अपना अवैध कब्जा हटाने लगे हैं और जो नहीं हटा रहे उनका योगी आदित्यनाथ का बुलडोजर हटाने में लग गया है।पीडीए ने 22 अगस्त 2020 को अवैध निर्माण को ध्वस्त कर दिया। इसके बाद अतीक ने बिना नक्शा स्वीकृति के फिर से तय सीमा से अधिक चारदीवारी का निर्माण कराया. पीडीए ने बाउंड्री वॉल हटाने के लिए 5 मार्च 2022 तक का समय दिया था। पीडीए द्वारा दी गई अवधि में बाउंड्री वॉल नहीं हटाई गई।

अतीक अहमद के सहयोगी खालिद जफर ने भीटी असदुल्लाहपुर में करीब 45 बीघे के भूखंड पर बिना ले-आउट पास किए अवैध रूप से साजिश रचनी शुरू कर दी। पीडीए ने नगर नियोजन एवं विकास अधिनियम 1973 की धारा 27 (ए) के तहत कारण बताओ नोटिस जारी किया था और 20 जुलाई 2021 को धारा 28 (1) के तहत विकास कार्यों को रोकने के लिए एक नोटिस जारी किया था। लेकिन जफर ने नोटिस की अनदेखी की और अवैध साजिश रचते रहे। लेआउट पीडीए द्वारा अनुमोदित नहीं है।

Back to top button