अंतरराष्ट्रीय

What is Suicide Machine:30 सेकंड में हो जाएगी मौत ,आत्‍महत्‍या की मशीन का आविष्‍कारक बोला- ‘खुद पर करूंगा इसे ट्राय’

What is Suicide Machine: यूके में इच्छामृत्यु को कानूनी रूप से मान्यता प्राप्त है। लेकिन सवाल यह है कि क्या कोई अपनी मौत का फैसला खुद कर सकता है? एक व्यक्ति ने सुसाइड मशीन बनाने का दावा किया है। जिसे वह खुद आजमाएंगे।

यूके में इच्छामृत्यु को कानूनी रूप से मान्यता प्राप्त है

आत्महत्या करने वाली मशीनें ऑक्सीजन कम करती हैं

Suicide Machine, Euthanasia: यूरोपीय देश स्विटजरलैंड ने आत्‍महत्‍या करने में मदद देने वाली मशीन को कानूनी मंजूरी दे दी है। यह मशीन मात्र 30 सेकंड में आत्‍महत्‍या की प्रक्रिया को पूरी कर देती है। इससे इंसान बिना दर्द के हमेशा के लिए मौत की नींद सो सकता है। अब एक आविष्कारक ने कुछ समय पहले दावा किया था कि उसने सुसाइड पॉड (सुसाइड मशीन) बनाई है, उसे वह खुद इस्तेमाल करेगा। द सन की एक रिपोर्ट के मुताबिक उस शख्स का नाम डॉ. फिलिप निश्के उर्फ डॉ. डेथ है.

वह इससे पहले पिछले साल तब सुर्खियों में आए थे जब उन्होंने कहा था कि उन्होंने ‘सरको कैप्सूल’ बनाया है। जिसका उपयोग स्विट्जरलैंड में किया जा सकता है। तब यह दावा किया गया था कि जो लोग बहुत गंभीर रूप से बीमार हैं वे इस कैप्सूल पर एक बटन दबाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर सकते हैं।

क्या है इस पॉड की खासियत?
वैसे यह पॉड कैफीन की तरह होती है। जो नाइट्रोजन से भरी हुई है। इस पॉड में 30 सेकेंड के अंदर 21 फीसदी ऑक्सीजन घटकर 1 फीसदी हो जाती है. यानी एक बार कोई इसमें घुस जाए तो उसकी मौत हो जाएगी।

आखिर क्या बोले डॉक्टर डेथ

‘द सन’ से बात करते हुए डॉ. डेथ उर्फ ​​डॉ. फिलिप निश्के ने हैरान कर देने वाली बात कही, उन्होंने कहा- ‘एक दिन मैं पॉड में जाकर अपनी जिंदगी खत्म कर लूंगा।’ उन्होंने आगे कहा कि मुझे ऐसा लगता है कि मौत अपने आप में बेहद शांतिपूर्ण है. नशा वह क्षण है जब व्यक्ति होश खो देता है।

इसलिए मुझे लगता है कि मृत्यु के समय सेंस में रहने का विचार काफी बेहतर है। वो भी उस खास दिन के लिए जब आप मर रहे हों। डॉ. डेथ ने कहा कि आप किसी के भी विचार के मरने से पहले उसे ‘अलविदा’ कह सकते हैं। कहीं जा सकते हैं आप यह भी जानते थे कि आप किसे छोड़ रहे हैं।

तो इस मॉडल का इस्तेमाल स्विट्जरलैंड में किया जाएगा
अपनी मर्जी से मरने के लिए मॉडल (पॉड्स का उपयोग करके) कुछ दिनों के भीतर स्विट्जरलैंड में इस्तेमाल किया जा सकता है। साल के मध्य तक आत्महत्या को कानूनी मान्यता मिल सकती है। वहीं, किसी की मदद से आत्महत्या, इच्छामृत्यु को ब्रिटेन में कानूनी मान्यता मिल गई है।

कई लोगों ने किया विरोध
वैसे डॉ. डेथ यानी डॉ. फिलिप निश्के राइट टू डाई संगठन एग्जिट इंटरनेशनल भी चलाते हैं। उनसे बात कर कई लोगों ने मरने की इच्छा जताई है. हालांकि इस तरीके का विरोध भी हो रहा है। क्योंकि इस फली में गैस का कई लोगों ने विरोध किया है. Ace में डॉ. डेथ चाहते हैं कि जो भी ऐसा करना चाहता है वह इस मामले में पूरी तरह से स्पष्ट हो जाए.

Back to top button