सतना

MP : बेटे को जन्मदिन में तोहफा देने के खरीदी चांद पर जमीन,आप भी खरीद सकते हैं यहां प्लाट,

अगर आपका भी सपना है कि आपके पास चांद पर खूबसूरत घर हो तो यह खबर सिर्फ आपके लिए है। मध्य प्रदेश के सतना में रहने वाले एक शख्स ने अपने दो साल के बेटे के लिए चांद पर जमीन का एक टुकड़ा खरीदा और उसे बर्थडे गिफ्ट के तौर पर दिया.

सतना- आशिकी में दीवाने अक्सर चांद-तारे तोड़ लाने की बात करते देखा या सुना होगा लेकिन सतना जिले में एक बाप ने बेटे के लिए यह कहावत सच कर दिखाई। जी हां मध्य प्रदेश के शहर सतना के भरहुत नगर निवासी अभिलाष मिश्रा ने अपने दो साल के बेटे अव्यान मिश्रा को चांद पर एक प्लॉट खरीदकर तोहफे में दिया है.अगर आप भी वहां जमीन खरीदना चाहते हैं तो इस तरह से कर सकते हैं जमीन बेचने वाली इन कंपनियों से संपर्क।

बता दें कि मध्य प्रदेश के सतना के भरहुत नगर निवासी अभिलाष मिश्रा ने चांद पर जमीन का एक प्लॉट खरीदा और अपने दो साल के बेटे अव्यान मिश्रा को तोहफे में दिया. चांद पर खरीदे गए प्लॉट का कानूनी नक्शा और रजिस्ट्री थी, जिसे अभिलाष मिश्रा ने आज बुधवार को अपने बेटे को सौंप दिया।पिता अभिलाष बेंगलुरू में एक कंपनी में रीजनल मैनेजर के पद पर कार्य करते हैं।अभिलाष को आज 15 दिसंबर को ही इस जमीन का मालिकाना हक दिया जाएगा जिसे वह आज ही अपने बेटे को उपहार स्‍वरूप देंगे।

इन्टरनेट पर सर्च किया था बेचने वाली कंपनी का नाम

हम आपको बता दें कि अभिलाष मिश्रा कर्नाटक के बैंगलूर में एक निजी कंपनी के रीजनल मैनेजर हैं और उन्होंने खबरों में सुना कि लोग चांद पर जमीन खरीद रहे हैं। अभिलाष एक दिन आफिस में बैठे- बैठे इस पर चर्चा होने लगी कि आज कल तो लोग चांद पर भी प्‍लाट खरीद रहे हैं। उसी समय चांद पर जमीन खरीदने का विचार उसके भी मन में आ गया आ गया।   उन्होंने चांद पर जमीन खरीदने के लिए इंटरनेट पर सर्च किया तो उन्हें इसकी अधिकृत जानकारी मिली। सूचना मिलने के बाद अभिलाष ने अपने बेटे के लिए चांद पर जमीन खरीदने और उसे बर्थडे गिफ्ट के तौर पर देने का फैसला किया।

ज्यादातर लड़को को भाभी क्यों आती हैं पसंद,यह है असली वजह

चांद पर खरीदा 1 एकड़ जमीन

अभिलाष मिश्रा ने चांद पर जमीन बेचने वाली अमेरिका की कंपनी लूना सोसाइटी नाम की कंपनी की जानकारी लगी तो उन्होंने इससे फोन सहित ईमेल सें संपर्क किया और कंपनी ने उन्हें चांद पर उपलब्ध जमीन की जानकारी दी. कंपनी चांद पर जमीन बेचने का दावा करती है। इसके बाद इस कंपनियों के अधिकारियों ने मुझे चांद की दस लोकेशन के बारे में विस्‍तार से सारी जानकारी भेज दी। कंपनी ने अभिलाष को प्लॉट की कीमत, नियम कायदे बताए. बात तय होने के बाद आखिरकार अभिलाष मिश्रा ने चांद पर एक एकड़ जमीन खरीद ली और उसकी बाकायदा रजिस्ट्री भी करा ली.

रजिस्ट्री करा कर रोमांचित हो रहे पिता

अभिलाष ने बताया कि उन्‍होंने अपने बेटे अव्यान के लिए जमीन देखने के बाद चांद की एक साइट लूनर अल्पस में एक एकड़ जमीन खरीद ली। इसके लिए बतायी गई राशि वह अदा कर चुके हैं और फिर इंटरनेशनल लूनर लैंड्स रजिस्ट्री नाम की फर्म ने जमीन की रजिस्ट्री कर दी। जिसके दस्तावेज, रजिस्ट्री, सर्टिफिकेट अभिलाष को भेजे गए हैं।दोस्तों, परिवार और रिश्तेदारों को बेहद और अजीब सी खुशी दी. वहीं अभिलाष एक पिता के तौर पर अपने बेटे को उसके जन्मदिन पर चांद का टुकड़ा तोहफे में देकर बेहद खुश हैं. वह अपनी खुशी बयां नही कर पा रहे हैं. पिता ने कहा कि यह पल उन्हें रोमांचित कर देता है। इंसान अपने बेटों को पृथ्वी पर जमीन देते हैं लेकिन वह खुशनसीब बाप है जो अपने बेटे को चांद पर जमीन खरीद कर दे दी है।

 

Back to top button