MP News

Madhya Pradesh : मध्य प्रदेश में जंगल की सुरक्षा अब होगी मोबाइल से, वन कर्मियों के लिए वन विभाग 5 करोड़ रुपये से ढाई हजार खरीदेगा मोबाइल

 Madhya Pradesh: वनकर्मियों के लिए खरीदे जाने वाले मोबाइल की कीमत 20 हजार रुपये होगी जबकि इस पूरे प्रोजेक्ट में करीब 5 करोड़ रुपये खर्च होंगे पांच.Madhya Pradesh

 Madhya Pradesh: भोपाल (राज्य ब्यूरो)। मध्य प्रदेश में जंगल की रक्षा करने वाले वनकर्मियों के लिए ढाई हजार मोबाइल फोन(mobile phone) खरीदे जाएंगे. इनकी मदद से वनों की निगरानी आसान होगी। किसी भी घटना की स्थिति में वीडियो व फोटो वन विभाग के उच्चाधिकारियों को भिजवाए जा सकते हैं। अतिक्रमण की स्थिति में इस फोन से जमीन का सर्वे किया जा सकता है।Madhya Pradesh

फिलहाल वनकर्मी निजी मोबाइल( mobile) का इस्तेमाल कर रहे हैं। उनके पास मैपिंग सहित अन्य सुविधाएं नहीं हैं। विभाग मोबाइल खरीदने के लिए जल्द ही टेंडर (tender) आमंत्रित करने जा रहा है।Madhya Pradesh

दरअसल, तकनीक के आने के बाद भी वन विभाग को समय पर जंगल में होने वाली घटनाओं की जानकारी नहीं मिल पा रही है. खासकर अतिक्रमण के मामले में फील्ड स्टाफ (fild star) को पता ही नहीं चलता कि कितनी जमीन पर कब्जा कर लिया गया है. विभाग के आईटी विंग ने एक सॉफ्टवेयर विकसित किया है, जा इस काम को आसानी से कर सकता है। इसे नए मोबाइल में लोड किया जाएगा। इससे वन भूमि की माप आसान हो जाएगी।Madhya Pradesh

अक्षांश-देशांतर रेखाओं के साथ वन भूमि की पूरी जानकारी सामने आएगी। वन अधिकारियों का कहना है कि इससे यह पता लगाने में आसानी होगी कि वन भूमि पर अतिक्रमण किया गया है या नहीं. जमीन की पूरी जानकारी के साथ फोटो, वीडियो और नक्शे विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को भी भेजे जा सकते हैं। ताकि कार्रवाई में देरी न हो।Madhya Pradesh

पांच करोड़ खर्च होंगे

 

मोबाइल फोन खरीदने पर पांच करोड़ रुपये खर्च होंगे। एक मोबाइल की कीमत 20 हजार रुपये होगी। जिसमें कई सुविधाएं होंगी.और वन कर्मी को कठिन परिस्थितियों से निपटने में भी आसानी होगी.साथ ही वन कर्मियों को अपनी एक्जेक्ट लोकेशन ट्रेस हो सकेगी.

 

कंडम हो गए पीडीए

विभाग ने 15 साल पहले वन कर्मियों को 10,000 व्यक्तिगत डिजिटल सहायता (पीडीए) मोबाइल दिए थे। इनका इस्तेमाल भी विवादों में रहा है। पहले तो वे घने जंगलों में काम नहीं कर सके और फिर उनकी बैटरियां खराब होने लगीं। अब तक ये मोबाइल पूरी तरह से खराब हो चुके हैं। अधिकारियों को जंगल की हर जानकारी समय पर पहुंचाने के लिए पीडीए मोबाइल भी दिए गए।Madhya Pradesh

आसान संचार

अधिकारियों का कहना है कि पहले घने जंगलों में नेटवर्क की समस्या थी लेकिन अब ऐसा नहीं है. दूरदराज के इलाकों में टावर लगने से संचार आसान हो गया है।Madhya Pradesh

प्रदेश में कार्यरत मैदानी वन अधिकारी

पदनाम — नहीं

वन संरक्षक — 12,329

वनवासी – 2,527

अनुमंडल वनपाल — 544

संभागीय वनपाल – 813

कुल — 16,281

 

यह भी देखें– Web Series ullu ने इस बेब सीरीज को रिलीज करते ही डाउन करना पड़ा सर्वर, संबंध बनाते हुए अटक गई थी सांसे, Sex सें है भरपूर 

Madhya Pradesh : मध्य प्रदेश में जंगल की सुरक्षा अब होगी मोबाइल से, वन कर्मियों के लिए वन विभाग 5 करोड़ रुपये से ढाई हजार खरीदेगा मोबाइल
photo by google

यह भी देखें – Nighty : नाईटी पहनकर पार्टनर की रात को खास बनाया, फिटिंग फिगर से दिख रही थी खूबसूरत

Madhya Pradesh : मध्य प्रदेश में जंगल की सुरक्षा अब होगी मोबाइल से, वन कर्मियों के लिए वन विभाग 5 करोड़ रुपये से ढाई हजार खरीदेगा मोबाइल
photo by google

यह भी देखें – Bengal SSC Scam:पार्थ चटर्जी बोले ED रेड में अर्पिता मुखर्जी के घर से मिले 50 करोड़ पैसा मेरा नहीं, समय आने दीजिए सबको…

Madhya Pradesh : मध्य प्रदेश में जंगल की सुरक्षा अब होगी मोबाइल से, वन कर्मियों के लिए वन विभाग 5 करोड़ रुपये से ढाई हजार खरीदेगा मोबाइल
photo by google

Back to top button