MP Board: 10वीं-12वीं के छात्रों के लिए बड़ी अहम खबर,थानों में भेजे जाएंगे प्रश्नपत्र,यह होंगे परीक्षा के नियम - विंध्य न्यूज़

Bhopal । मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल 10वीं और 12वीं कक्षा के छात्रों के लिए बड़ी अहम खबर है । 12वीं की परीक्षा के इच्छुक उम्मीदवार आज 12 फरवरी से 14 फरवरी 2022 तक निर्धारित शुल्क के साथ अपने शब्दों का इच्छा अनुसार संशोधन कर सकते हैं। 14 फरवरी 2022 के बाद प्राप्त आवेदन और परीक्षा केंद्र पर किए गए विषय संशोधन स्वीकार नहीं किए जाएंगे।

अधिक जानकारी के लिए उम्मीदवार एमपीबीएसई की आधिकारिक वेबसाइट mpbse.nic.in पर जा सकते हैं। इसके अलावा, परीक्षा के प्रश्न पत्र सोमवार, 14 फरवरी, 2022 से पुलिस थानों में भेजे जाएंगे। परीक्षा केन्द्र अध्यक्ष एवं सहायक केन्द्र अध्यक्ष प्रश्नपत्र एवं गोपनीय सामग्री के साथ पुलिस की उपस्थिति में रवाना होंगे। परीक्षा से संबंधित प्रश्न पत्र और गोपनीय सामग्री दो दिनों में परीक्षा केंद्रों के पास के पुलिस थानों में पहुंचा दी जाएगी. इसी पोर के लिए संयुक्त संचालक डीईओ की 3-3 टीमें औचक निरीक्षण करेंगी और किसी भी गड़बड़ी की स्थिति में मौके पर मौजूद अधिकारी द्वारा तत्काल प्रभाव से दस्ते को सूचना दी जाएगी, ताकि तत्काल कार्रवाई की जा सके.

बता दे कि जिले स्तर पर कलेक्टर की टीम भी परीक्षा केंद्रों में पहुंच निरीक्षण करेगे । माशिमं ने निर्देश दिए हैं कि सभी परीक्षा केंद्रों में फर्नीचर की समुचित व्यवस्था की जाए, ताकि एक डेस्क व बेंच पर एक विद्यार्थी को बैठाया जा सके। परीक्षा केंद्र के बाहर नकल डालने के लिए लोहे की पेटी रखी जाएगी। इसमें कोई विद्यार्थी परीक्षा से संबंधित या कोई भी अनुचित सामग्री लाता है, तो वह पेटी में स्वेच्छा से डाल सके, अन्यथा जांच में दोषी पाए जाने पर सख्त कार्रवाई होगी।

इन नियमों का करना होगा पालन

  1. 10वीं की बोर्ड परीक्षा 18 फरवरी से 10 मार्च तक और 12वीं की बोर्ड परीक्षा 17 फरवरी से 12 मार्च तक होगी। सभी परीक्षाएं सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे के बीच होंगी।
  2. कक्षा 10वीं व 12वीं के नियमित विद्यार्थियों की प्रायोगिक परीक्षा 12 फरवरी से 25 मार्च 2022 के बीच उनके विद्यालय में तथा 17 फरवरी से 20 मार्च 2022 के बीच स्व-शिक्षित विद्यार्थियों द्वारा आवंटित परीक्षा केंद्र पर होगी।
  3. इस साल दोनों परीक्षाओं में करीब 18 लाख छात्र शामिल होंगे यानी 10वीं में 10 लाख से ज्यादा और 12वीं में 7 लाख से ज्यादा छात्र होंगे.इस वजह से राज्य में करीब 4 हजार परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं.
  4. परीक्षा केंद्र में छात्रों को कोरोना गाइडलाइन के अनुसार ही प्रवेश दिया जाएगा, उनके लिए अलग से कमरा होगा।बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षा में कोरोना संक्रमण और इसके लक्षणों वाले छात्रों के लिए अलग-अलग व्यवस्था होगी. इसके लिए सभी परीक्षा केंद्रों पर अलग-अलग आइसोलेशन रूम बनाए जाएंगे।
  5. सेंटर में प्रवेश करते ही आपको सबसे पहले हैंड सैनिटाइजिंग करनी होगी। गार्ड, शिक्षकों, छात्रों के शरीर का तापमान जांचा जाएगा।
  6. केंद्र के किस कमरे में कौन सा रोल नंबर होगा इसकी जानकारी बाहरी बोर्ड पर होगी.उसके आधार पर रोल नंबर और रूम नंबर देखकर अपने कमरे में जाएं.
  7. कमरे के अंदर हर सीट पर रोल नंबर लिखा होगा। एक बेंच पर एक ही छात्र बैठकर परीक्षा देगा।
  8. विकलांग छात्र, घायल छात्र, नेत्रहीन, मानसिक रूप से विकलांग, टूटी हड्डियाँ या लिखने में असमर्थ छात्र मदद ले सकते हैं। उन्हें विषय चयन, अतिरिक्त समय, परीक्षा शुल्क से छूट, कंप्यूटर या टाइपराइटर चयन की सुविधा दी जाएगी।