uncategorized

किशोर ने खुद के अपहरण की रची साजिश,वजह जानकर हो जाएंगे हैरान SIDHI NEWS

परिजनों की डांट से नाराज होकर चला गया था मोरवा,जमोड़ी पुलिस की पूंछताछ में बच्चे ने किया खुलासा

सीधी –परिजनों की डांट फटकार से नाराज होकर घर से भागने वाले 15 वर्षीय किशोर ने स्वयं अपने अपहरण की झूठी कहानी रचकर पुलिस को भी सकते में ला दिया। जमोड़ी पुलिस ने जब बच्चे से पूछताछ की तो उसने पूरी घटना का खुलाशा किया।

उल्लेखनीय है कि शहर में संजय गांधी कॉलेज के समीप एमपीबी कॉलोनी गेट के सामने से रविवार की सुबह 15 वर्षीय बच्चे के अपहरण के अपहरण का मामला सामने आया था। सिंगरौली जिले के मोरवा थाने पहुंचकर बच्चे ने स्वयं अपहरण की पूरी दास्तान पुलिस को बताया था, जिस पर पुलिस ने परिजनों को सूचना दी परिजन मोरवा थाने पहुंचकर बच्चे वापस लाए। जमोड़ी पुलिस ने जब बच्चे से इस संबंध में पूछताछ की पूरे मामले का खुलाशा हुआ।

बच्चे ने पुलिस को बताया कि वह परिजनों की डांट फटकार से नाराज होकर रविवार की सुबह 7 बजे साइकिल से ट्यूशन पढऩे के लिए निकला और अपने अपहरण की झूठी कहानी तैयार कर एक ट्रक में सवार होकर मोरवा पहुंच गया। वहां आने पर उसे अपनी गलती का अहसास हुआ और वह अपहरण की झूठी कहानी के साथ एक युवक की मदद लेकर मोरवा थाना पहुंच गया। वहां पुलिस को बताया कि कोरोना वैक्सीन लगाने के बहाने बच्चा चोर गिरोह के सदस्यों द्वारा रविवार की सुबह करीब 7 बजे सीधी शहर में संजय गांधी कॉलेज के समीप एमपीईबी कॉलोनी गेट के पास से उसका अपहरण चाकू की नोक पर किया था।

अपहरण कर गिरोह के सदस्य उसे मिनी ट्रक में डालकर मोरवा ले गए। मोरवा में कुछ समय के लिए ट्रक जाम में रुका तो वह मिनी ट्रक से कूदकर भाग खड़ा हुआ। कुछ दूर आने पर उसने एक युवक को रोते हुए घटना की जानकारी दी और उसके मोबाइल से अपनी मां से भी बात किया। युवक ने उसे मोरवा थाना सुरक्षित पहुंचा दिया। मोरवा पुलिस की सूचना पर दोपहर परिजन वहां गए और बच्चे को लेकर आए। बच्चे ने यह भी बताया था कि मिनी ट्रक के अंदर एक 10 वर्षीय बच्ची खुशी भी जींस टी-शर्ट में थी, जिसको भी अपहरण किया गया था।

इनका कहना है 15 वर्षीय बच्चे ने बताया है कि वो परिजनों की डांट फटकार से नाराज होकर अपने अपहरण की कहानी बनाई थी। बच्चे ने अपनी गलती स्वीकार करते हुए माफी मांगी है।
शेषमणि मिश्रा,थाना प्रभारी, जमोड़ी

Card यदि आपका ATM मशीन में फंस जाए तो क्या करेंगे ? पढ़ लें वापस पाने का तरीका

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button