uncategorized

सीएम के अभियान पर खानापूर्ति करने में जुटा आबकारी महकमा, विभाग मैनेज


आबकारी एक्ट के 57 प्रकरण दर्ज, 200 लीटर महुआ शराब व 1200 किलो लाहन बरामद करने का दावा

सिंगरौली 28 जनवरी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शराब माफियाओं, अवैध कारोबारियों के विरूद्ध सख्ती के साथ कार्रवाई करने का फरमान सुनाया है। जिसमें जिला आबकारी महकमा कार्रवाई के नाम पर खानापूर्ति कर इतिश्री करने में लगा हुआ है। जबकि जिले के कई गांवों में पानी की तरह देशी महुआ शराब की अवैध बिक्री व्यापक पैमाने पर की जा रही है। बावजूद इसके आबकारी में वर्षाे से पदस्थ महकमा कारोबारियों से सांठ-गांठ कर मामले को रफा दफा कर दे रहा है।


दरअसल मुरैना जिले में जहरीली शराब पीने से करीब दो दर्जन से अधिक भोले-भाले ग्रामीणों की जानें, वहीं कईयों की आंख की रोशनी भी चली गयी। मुरैना जिले में जहरीली शराब के ताण्डव को देख प्रदेश में अब किसी प्रकार की अनहोनी न हो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शराब माफियाओं के विरूद्ध कड़ा एक्शन ले लिया है। उन्होंने प्रशासन को सख्त चेतावनी देते हुए कहा है कि किसी भी हालत मेें जहरीली शराब नहीं बिकनी चाहिए व शराब माफियाओं के विरूद्ध कार्रवाई करें। किन्तु जिले के आबकारी महकमा मुख्यमंत्री के नेक इरादे पर ही पलीता लगा रहे हैं।

जानकारी के मुताबिक जिला आबकारी महकमा 11 जनवरी से शराब माफियाओं के विरूद्ध अभियान चलाया है और इस अभियान के तहत कल 27 जनवरी की स्थिति में केवल 57 आबकारी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। जिसमें केवल 200 लीटर शराब व 1200 किलो लाहन जप्त कर वाहवाही लूटते हुए स्वयं की पीठ आबकारी महकमा थपथपा रहा है। जबकि जिले की पुलिस करीब 380 से अधिक आबकारी एक्ट के तहत अपराध दर्ज किया है। आबकारी विभाग के द्वारा 57 लोगों के विरूद्ध दर्ज किये गये आबकारी एक्ट में 50 लीटर एक ही आरोपी का है। शेष 56 शराब कारोबारियों से महज लीटर दो लीटर महुआ शराब व लाहन जप्त कर कार्रवाई करने का दावा कर रहे हैं।

फिलहाल जिले के सैकड़ों गांवों में महुए की शराब पानी की तरह बिक रही है, किन्तु आरोप है कि आबकारी महकमे को कहीं दिखाई नहीं पड़ रही है। इसमे यही आरोप लगाया जा रहा है कि जिला आबकारी विभाग में वर्षों से पदस्थ कुछ आबकारी कर्मी महुआ शराब कारोबारियों से मधुर संबंध बनाये हुए हैं। जहां उनसे महीने में वसूली भी कर रहे हैं।


जिले में बिक रही मिलावटी महुआ शराब
मुरैना जिले में शराब काण्ड से सबक जिला आबकारी महकमा नहीं ले रहा है। आरोप है कि जिले के कई गांवों में यूरिया मिक्स महुए के शराब की बिक्री व्यापक पैमाने पर की जा रही है। इसकी जानकारी पुलिस के साथ-साथ आबकारी महकमे को है, लेकिन ऐसे अवैध शराब कारोबारियों के विरूद्ध आबकारी महकमा कार्रवाई करने से परहेज कर रहा है। जबकि ग्रामीण अंचलों के कई युवा, महिलाएं नशे के गिरफ्त में आ चुकी हैं। फिर भी इन पर नकेल नहीं कसी जा रही है। यदि अवैध शराब से कोई हादसा होता है तो इसका जिम्मेदार कौन होगा यह अपने आप में सवाल खड़ा हो रहा है।


इनका कहना है
जिले में 11 जनवरी से अब तक महुआ शराब के अवैध कारोबारियों के विरूद्ध 57 प्रकरण दर्ज कर 200 लीटर शराब व 1200 किलो लाहन जप्त किया गया है। आगे यह कार्रवाई जारी रहेगी। यदि जिले में इस तरह से कहीं भी शराब बिक रही है तो निश्चित ही एक्शन लिया जायेगा। स्टाफ की कमी के चलते कार्रवाई करने में कुछ अड़चने आ रही हैं।
रविन्द्र व्यास
जिला आबकारी अधिकारी,सिंगरौली

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

Adblock Detected

please dezctivate Adblocker