uncategorized

सीधी कलेक्टर ने लॉक डाउन के बाद फिर शुरू की जनसुनवाई,पीड़ित की ये बड़ी मदद,

सीधी —  कोरोना महामारी के कारण विगत कई माह से बंद जनसुनवाई पुनः प्रारंभ हो गयी है। आज आयोजित जनसुनवाई में कलेक्टर रवीन्द्र कुमार चौधरी द्वारा 38 आवेदकों की समस्याओं को सुनकर उनके त्वरित निराकरण के निर्देश दिए गए हैं। शासन के निर्देशानुसार प्रत्येक मंगलवार को सुबह 11 से दोपहर 1 बजे तक जिला पंचायत सभागार में जनसुनवाई का आयोजन किया जायेगा। कलेक्टर रवीन्द्र कुमार चौधरी द्वारा सभी विभागों के जिला स्तरीय अधिकारियों को जनसुनवाई में अनिवार्य रूप से उपस्थित रहने के निर्देश दिए गए हैं। कोई भी अधिकारी बिना पूर्व अनुमति के जनसुनवाई में अनुपस्थित नहीं रहेगें।

कलेक्टर श्री चौधरी ने जनसुनवाई में उपस्थित अधिकारियों से कहा कि शासन द्वारा लोगों की समस्या के त्वरित निराकरण करने की मंशा से जनसुनवाई का आयोजन किया जाता है। इसे पूरी गंभीरता से लें तथा प्राप्त समस्याओं का निर्धारित समय-सीमा में गुणवत्तापूर्ण निराकरण सुनिश्चित करायें। कलेक्टर श्री चौधरी ने कहा कि जनसुनवाई में समस्याएं केवल अपवाद स्वरूप ही आनी चाहिए। इसके लिए मैदानी स्तर पर सभी पात्र हितग्राहियों को उनकी पात्रतानुसार योजनाओं का लाभ सहज रूप से दिलाया जाना सुनिश्चित हो। कलेक्टर श्री चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री जी द्वारा वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से स्पष्ट निर्देश हैं कि योजनाओं के क्रियान्वयन में लापरवाही पर दोषी अधिकारियों एवं कर्मचारियों के विरूद्ध कठोर अनुशासनात्मक कार्यवाही की जायेगी।


समस्या के निराकरण से संतुष्ट दिखे बब्बू साकेत
जनसुनवाई में प्रायः लोग अपनी समस्याओं को लेकर आते हैं, यह कम ही होता है कि लोग निराकरण से संतुष्ट होकर अपनी शिकायत वापस लेने आएं। तहसील चुरहट के ग्राम पचोखर से आए आवेदक बब्बू साकेत ने कलेक्टर श्री चौधरी को बताया कि उनकी समस्या का निराकरण हो गया है और वे अपनी शिकायत को वापस लेना चाहते हैं। बब्बू साकेत ने बताया कि उनकी पुत्री का विवाह ग्राम पंचायत चोभरा दिग्विजय सिंह के ग्राम गढ़वा में सामुहिक विवाह कार्यक्रम में हुआ था किन्तु उन्हें मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना का लाभ नहीं प्राप्त हुआ था जिसके कारण शिकायत की गयी थी। उन्होने बताया कि अब उन्हें राशि प्राप्त हो गयी है इसलिए वे अपनी शिकायत वापस लेना चाहते हैं। 


पीड़ित परिवार को 5 हजार की आर्थिक सहायता ग्राम मुर्तला कोठार रामपुर नैकिन के आवेदक धीरमन साकेत द्वारा बताया गया कि दिसंबर 2016 में उनके घर में भारी वाहन घुसने से दो व्यक्तियों की मृत्यु हो गयी तथा पत्नी दुर्घटना ग्रस्त होकर विकलांग हो गई है। उन्हें अभी तक कोई सहायता प्राप्त नहीं है। कोरोना महामारी के कारण वे आर्थिक संकट से गुजर रहे हैं। तथा पत्नी के इलाज हेतु पैसे नहीं है। कलेक्टर श्री चौधरी द्वारा आदिम जाति कल्याण विभाग के माध्यम से पीड़ित परिवार को 5 हजार रूपये की तात्कालिक राहत प्रदाय की गयी है।


जनसुनवाई में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत आर.के. शुक्ला, उपखण्ड अधिकारी गोपद बनास नीलांबर मिश्रा सहित सभी विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे। 

सीधी कलेक्टर रविंद्र चौधरी ने क्रिकेट उद्घाटन मैच में कहीं यह बड़ी बात, अब हो रही तारीख

इंदौर में हैदराबाद से मंगाई 70 करोड की ड्रग्स पकड़ाई,5 गिरफ्तार

भोपाल में अस्पताल ने 600 लोगों को बिना बताए को वैक्सीन के लगाए टीके

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button