uncategorized

शादी नहीं होने से आहत व्यवसायी की बेटी लगाई फांसी,ग्रेजुएट छात्रा ने सुसाइड नोट में बयां की शादी के दर्द की पीड़ा,

बैढऩ के तुलसी मार्ग सोनी कटरा मोहल्ले की घटना


सिंगरौली 21 मार्च। पढऩे में होशियार,स्नातकोत्तर की डिग्री के साथ हर बात को सोचने समझने की क्षमता फिर शादी में बाधा क्यों। आखिर ऐसी क्या गलती हुई की शादी के वियोग को सह नही पायी। माता-पिता को बताने की हिम्मत नही जुटा पायी और एक कागज में अपनी पीड़ा शादी का बयां करते हुये फांसी पर झूल गई। यह घटना कोतवाली बैढऩ क्षेत्र के तुलसी मार्ग सोनी कटरा मोहल्ला में रविवार को दोपहर घटी है। इस सदमे से परिवार उभर नही पा रहा है। जिसने भी सुना और जिसने भी सुसाइड नोट पढ़ा दंग रह गया। आखिर भगवान ने ऐसी कौन सी कमी बनाने में छोड़ दी थी की शादी होने में यह कमी बाधा बन गयी थी।

जानकारी के अनुुसार तुलसी मार्ग सोनी कटरा मोहल्ला निवासी सौम्या वर्मा पिता शिवलाल सेठ उम्र 24 वर्ष ने रविवार की दोपहर घर में ही फांसी का फंदा बनाकर झूलकर आत्महत्या कर लिया। घटना के दौरान घर में मॉ थी और पिता दुकान पर आ गया था। मॉ को भनक तक नही लगी की मेरी बेटी फांसी पर झूल गयी। जब मॉ सौम्या को नही देखा तो उसके कमरे की ओर गई तो देखा की कमरा अंदर से बंद है। आवाज लगाने लगी लेकिन अंदर से कोई आहट नही मिली। काफी देर तक गुहार लगाई लेकिन सौम्या ने जब दरवाजा नही खोला तब उसे अनहोनी होने की डर सताने लगी। तत्काल आस पड़ोस के लोगो ने भी हल्ला गुहार सुनकर दौड़े लेकिन दरवाजा फिर भी नही खुला। तब इसकी सूचना सौम्या के पिता को दी गई। पिता भी दौड़ते हुये घर पहुंचे और आवाज लगाई पर अंदर से कोई आवाज नही आयी तब इसकी सूचना पुलिस को दी गई।

मौके पर पहुंची पुलिस ने जब दरवाजा तोड़वाया तो देखा की सौम्या फंासी लगाकर मौत की नींद सो गई है। तत्काल पुलिस कमरे की सुराग लेने लगी तो देखा की एक सुसाइड नोट लिखा हुआ पड़ा है। पुलिस सूत्रो से पता चला की सुसाइड नोट में शादी न होने का जिक्र था। जिस वजह से सौम्या ने मौत को गले लगा लिया । फिलहाल पुलिस मर्ग कायम कर पंचनामा प्रक्रिया उपंरात शव का पीएम कराकर परिजनो को सौंप दिया है। इधर पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

दो वर्ष पूर्व हुई थी छोटी बहन की शादी

सूत्रो की बातों पर गौर करें तो बताया जाता है कि सौम्या से छोटी बहन की शादी दो वर्ष पूर्व हो चुकी थी। अभी एक दिन पूर्व सौम्या व उनके माता-पिता बनारस सौम्या की शादी कराने के लिये गये हुये थे। जहां लड़का पक्ष भी मौजूद थे। लेकिन बनारस में भी शादी फिट नही हो पायी। सूत्र यह भी बताते हैं कि सौम्या ग्रेजुएट थी,लेकिन लंबाई कम थी। जिस कारण शादी में लंबाई बाधा बन रही थी। सौम्या की शादी तकरीबन 4 वर्ष से सेठ परिवार खोज रहा था लेकिन कहीं शादी फिट नही हो रही थी। इसी सदमें में शायद आकर सौम्या ने खुदकुशी का रास्ता चुन लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button