uncategorized

सिंगरौली मे सैकड़ो महिलाओ को चढ़ा भूत,करने लगी अजीब हरकतें, जानिए फिर क्या हुआ


सिंगरौली 8 फरवरी — प्रकृति का ये नियम है कि जिसका जन्म हुआ है, वो एक न एक दिन मरेगा. जब किसी की सांसें चलनी बंद हो जाती हैं, तो उसे उसके धर्म के हिसाब से जला या दफ़ना दिया जाता है. पर हमारे धर्म ग्रंथों में लिखा है कि आत्मा नश्वर होती है, वो कभी नहीं मरती. शरीर आत्मा के लिए कपड़े के समान होता है, जिसके नष्ट हो जाने पर वो एक नई शरीर खोजने लगती है. कुछ आत्माएं शरीर के नष्ट होने के बाद धरती नहीं छोड़ पाती हैं और वो भूत बन जाती हैं. भूत शब्द हमारे लिए डर का पर्याय है. भूत के बारे में सुनते ही अच्छे-अच्छों की हालत ख़राब हो जाती है. लेकिन जब एक साथ दो दर्जन से ज्यादा लोगों को भूत चढ़ जाए तो इस स्थिति सामान तो नहीं रहती।

आज सिंगरौली जिले के मोरवा थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम कठास में भूत प्रेत की घटना देखने को मिली। जहां एक साथ दर्जनों महिलाएं खुद पर भूत पिशाच चढ़े होने को लेकर झाड़-फूंक कराने पहुंच गई। लोगों में अंधविश्वास ऐसा की इस खबर को सच मानकर सैकड़ों की तादाद में आसपास के ग्रामीणों ने भी ग्राम कठास स्थित पहाड़ी पर डेरा जमा लिया। देखते देखते पूरा गांव भीड़ में तब्दील हो गया।

पता चला कि सोनभद्र के डिबुलगंज निवासी पानमती पत्नी बृजलाल सिंह गोड़ बीते दिनों अपने मायके ग्राम कठास आई, जहां उसने एक महिला के ऊपर भूत चढ़ जाने की बात कही और इसे उतारने के लिए उसने आज का दिन चुना। फिर क्या था यह खबर जंगल में आग की तरह आसपास के ग्रामीण इलाकों में फैल गई और दूर-दराज से लोग खुद पर से भूत भगाने को लेकर कटासा पहुंचे। जिसे देखने सैकड़ों की तादाद में ग्रामीण भी जुट गए।

माहौल बिगड़ता देख स्थानीय सरपंच ने मोरवा पुलिस को सूचना दी। जिसके बाद निरीक्षक मनीष त्रिपाठी द्वारा एक टीम भेजकर अंधविश्वासी लोगों को समझाया गया। इसके बाद भी कुछ महिलाएं नहीं मान रही थी, जिसका भूत भी पुलिस ने उतारा। पुलिस की सख्ती के बाद ग्रामीण अपने घर लौट गए। घंटों चले इस हाइड वोल्टेज ड्रामे के बाद मोरवा पुलिस पानमती गोड को थाने ले आई, जहां कड़ी हिदायत देकर उसे छोड़ा गया। पुलिस ने लोगों के साथ पानमती को भी कड़ी हिदायत दी ताकि इस प्रकार के अंधविश्वास से जुड़ी घटनाएं पुनः ना घटे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button