uncategorized

सिंगरौली धिरौंली कोल माइंस पहुँचे अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी,हाथ जोड़ कर किया प्रणाम

सिंगरौली — अडानी ग्रुप ने जिले की विरोधी खदान कोयला उत्खनन के लिए अर्जित कर लिया है। जहांअडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी सुबह तकरीबन 11:30 बजे बनारस से हेलीकॉप्टर में सवार होकर सिंगरौली पहुंचे । चेयरमेन गौतम अडानी सबसे पहले एस्सार पावर प्लांट के हेलीपैड पर उतरे वहां अधिकारियों से मुलाकात कर हेलीकॉप्टर में सवार हुए और एपीएमडीसी कोल माइंस के प्रस्तावित खदान एरिया में पहुंचे जहां उन्होंने खानुआ और धिरौली में प्रस्तावित कोल माइंस एरिया को देखा साथ ही प्रोजेक्ट में शामिल अधिकारी कर्मचारियों से मुलाकात की।

बता देती स्ट्रेटाटेक मिनिरल रिसोर्सेस प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के जरिए अडानी व्यवसाई कोयला उत्खनन करेगा।एक दिवसीय दौरे पर आए गौतम अडानी भू अधिग्रहण संबंधी जानकारी ली और आसपास के एरिया का निरीक्षण किया उन्होंने धिरौली में शुरू की जाने वाली कोयला खदानों को देखा जबकि पास में स्थित सुलियरी कोयला खदान को भी अदानी ग्रुप में बताओ और माइनिंंग डेवलपर एवं ऑपरेटर के रूप में ले रखा है। जिले में कोयला उत्खनन के लिए व्यवसायिक बोली लगाकर अडानी पहली बार निजी कोयला खदान का मालिक बन चुका है। यह परियोजना अडानी ग्रुप के लिए पोट्टू पावर के रूप में बड़ा कदम है।

बतला दे कि गौतम अडानी का हेलीकॉप्टर उतरा जहां देवसर एसडीएम विकास सिंह उन्हें बुके देकर स्वागत किया साथ ही भू अर्जन संबंधी चर्चा भी की। 1 वर्ष पहले बनी स्ट्रेटाटेक मिनिरल रिसोर्सेस प्राइवेट लिमिटेड के द्वारा कोयला उत्खनन जैसे बढ़ेंं निवेश मध्य प्रदेश सरकार को लगभग 1200 करोड़ और डीएमएफ के रूप में 120 करोड़ रुपए  सालाना  अनुमानित कमाई होगी। इस दौरान जिला प्रशासन के भी अधिकारी मौजूद रहे साथ ही भारी संख्या में ग्रामीणों का भी हुजूम लगा रहा और कोल माइंस से प्रभावित लोग अडानी ग्रुप के चेयरमैन से मुलाकात करने के लिए जमा हो गए थे हालांकि ग्रामीणों का आरोप है कि उनकी नहीं सुनी गई इसके बाद गौतम अडानी हेलीकॉप्टर से बनारस के लिए रवाना हो गए । 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button